JamshedpurJharkhand

जमशेदपुर : चैंबर का बाजार शुल्क के विरोध में 27 अप्रैल को उपायुक्त कार्यालय के समक्ष विरोध प्रदर्शन

Jamshedpur : झारखण्ड विधानसभा में झारखण्ड राज्य कृषि उपज और पशुधन विपणन (संवर्द्धन और सुविधा) विधेयक, 2022 को राज्य में पारित किया गया है. चूंकि यह विधेयक महंगाई बढ़ाने वाला, फिर से इंस्पेक्टर राज की वापसी कराने वाला कानून है, इसलिये चैम्बर में बैठकों का आयोजन कर इसपर विरोध करने का निर्णय लिया गया. इसके विरोध में सिंहभूम चैम्बर ने राज्यपाल रमेश बैस से रांची स्थित राजभवन में मुलाकात कर ज्ञापन सौंपकर इस विधेयक को वापस करने के लिए आग्रह किया.

कोल्हान के सभी विधायकों को इसके विरोध में ज्ञापन/पत्र दिया गया. रांची में झारखण्ड के सभी व्यवसायिक संगठनों की बैठक आयोजित हुई. इसमें सभी ने मिलकर इसके विरोध में चरणबद्ध आंदोलन करने का निर्णय लिया. सिंहभूम चैम्बर के आह्वान पर जमशेदपुर के सभी खाद्यान्न व्यवसायियों ने काला बिल्ला लगाकर इस विधेयक का विरोध किया तदुपरांत सभी खाद्यान्न प्रतिष्ठान में विरोध स्वरूप पोस्टर लगाया गया. इसी क्रम में दिनांक 27 अप्रैल को व्यवसायिक संगठनों द्वारा झारखण्ड राज्य के सभी जिलों में उपायुक्त कार्यालय के समक्ष शांतिपूर्ण तरीके से धरना-प्रदर्शन कर राज्यपाल/मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपेंगे.

इसी परिपेक्ष्य में सिंहभूम चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के द्वारा 27 अप्रैल को उपायुक्त कार्यालय के बाहर संध्या 3.45 बजे से 5.00 बजे तक जमशेदपुर के सभी खाद्यान्न व्यापारी एकत्रित होकर शांतिपूर्ण विरोध-प्रदर्शन करेंगे और इसके बाद महामहिम राज्यपाल एवं माननीय मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन प्रेषित करेंगे.

Catalyst IAS
ram janam hospital

अध्यक्ष विजय आनंद मूनका, मानद महासचिव मानव केडिया, उपाध्यक्ष (व्यापार एवं वाणिज्य) नितेश धूत एवं सचिव (व्यापार एवं वाणिज्य) अनिल मोदी ने कहा कि यह विधेयक महंगाई बढ़ाने वाला एवं इंस्पेक्टर राज की वापसी कराने वाला साबित होगा इसलिये सभी व्यवसायी एवं व्यवसायिक संस्थान मिलकर इसका विरोध कर इसे वापस करवाने में लगे हैं. जबतक यह विधेयक वापस नहीं ले लिया जाता तबतक व्यवसायी आंदोलनरत रहेंगे.

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

इस आंदोलन को सफल बनाने में सिंहभूूम चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के पदाधिकारीगण उपाध्यक्ष (उद्योग) महेश सोंथालिया, उपाध्यक्ष (वित्त एवं कराधान) दिलीप गोलछा, उपाध्यक्ष (जनसंपर्क एवं कल्याण) मुकेश मित्तल, सचिव पीयूष कु. चौधरी, सावरमल शर्मा, भरत मकानी कोषाध्यक्ष किशोर गोलछा, व्यापार मंडल के दीपक भालोटिया, करण ओझा, पवन नरेडी, सत्यनारायण अग्रवाल, आनंद चौधरी, रामू देबुका, नवीन श्रीवास्तव, मनोज चेतानी, मनोज गोयल, विष्णु गोयल, मोहित मूनका, शिव अग्रवाल, सुंदर अग्रवाल, अमीष अग्रवाल, सौरभ संघी, मनोज अग्रवाल, आकाश मोदी, हर्ष अग्रवाल, रमेश सोंथालिया, मोहित साह,, विजय खेमका, महावीर अग्रवाल तथा अन्य सदस्य लगे हुये हैं.

ये भी पढ़ें- झारखंड में बिजली कट से मिसेज एमएस धौनी परेशान, ट्विट कर सरकार से किया सवाल

Related Articles

Back to top button