न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बांग्लादेश से आकर जमशेदपुर में ठगी, डॉलर का झांसा देकर बदलता था रुपया

अब तक पांच लाख रुपये की कर चुका था ठगी

373

Jamshedpur: पुलिस ने दो बांग्लादेशी नागरिकों को जाल बिछाकर गिरफ्तार किया. दरअसल शेख फिरदौस और उसका साथी बड़े ही शातिराना अंदाज में लोगों को बेवकूफ बनाता था. दोनों ठगों ने धतकीडीह के रहने वाले एक शख्स से पांच लाख रुपयों की ठगी की थी.

इसे भी पढ़ें-50 हजार रुपये से अधिक बिजली बिल बकायेदारों का कटेगा कनेक्शन

कैसे करते थे ठगी ?

hosp3

दरअसल शाहिदुल ने अपने एक रिश्तेदार शेख फिरदौस के माध्यम से ये बात फैलाई कि उनके पास अमेरिकन डॉलर है. वो बांग्लादेशी है इसलिए उसे हिंदुस्तान में डॉलर बदलने में परेशानी हो रही है. वो पांच लाख रुपयों के बदले 6 लाख का अमेरिकन डॉलर देने को तैयार हैं. धतकीडीह के रहनेवाले एक व्यक्ति को इन लोगों ने फोन पर झांसा देकर साकची मस्जिद के पास बुलाया और पांच लाख कैश लेकर लाल थैला दे दिया. उस थेले में पांच बंडल थे. बंडल के ऊपर एक एक डॉलर थे, जबकि बाकि का पूरा बंडल अखबार के कागजों से बने रद्दी का टुकड़ा था.

इसे भी पढ़ें-कांके वेटनरी कॉलेज के पास 25 एकड़ जमीन पर बनेगा इंटर स्टेट बस टर्मिनल

14 जुलाई को साकची थाने में दर्ज हुआ मामला

14 जुलाई को इस बाबत साकची थाने में ठगी और जालसाजी का मामला दर्ज किया गया. जमशेदपुर पुलिस की विशेष टीम ने मामले के आरोपी दोनों अपराधियों शेख फिरदौस और शाहिदुल शेख को गिरफ्तार कर लिया. उनके पास से पांच लाख नकद, एक सैमसंग मोबाइल, एक एप्पो मोबाइल, एक सिम और दो नैनो सिम बरामद किए हैं.

इसे भी पढ़ें- यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, आंसूगैस के गोले दागे, कई कांग्रेसी घायल

बांग्लादेश के चौबीस परगना का रहने वाला है शाहिदुल

ठगी करनेवाला शाहिदुल बंगलादेश के चौबीस परगना जिले से सियालदह होते हुए ट्रेन से जमशेदपुर पहुंचा. जमशेदपुर में वह टेल्को के रहने वाले अपने रिश्तेदार शेख फिरदौस के पास ठहरा हुआ था. ठगी में शेख फिरदौस ने भी उसकी मदद की थी. शेख फिरदौस पिछले काफी सालों से जमशेदपुर में ही रह रहा है. लेकिन मूलत: वो भी बांग्लादेश का ही है.

इसे भी पढ़ें – पहले तो फर्जी कंपनी बना ठग ली रकम, जेल से निकलते ही फिर बना ली नयी कंपनी   

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: