JamshedpurJharkhand

Jamshedpur : 36 करोड़ की पेयजल परियोजना की खुल रही पोल, सड़कों पर बह रहा पानी

Ghatshila : मुसाबनी प्रखंड में 36 करोड़ की वृहद पेयजल परियोजना लगभग पूर्ण हो चुकी है. योजना के तहत घर-घर स्वच्छ जल पहुंचाने का कार्य भी प्रारंभ हो चुका है. इसके साथ ही इस परियोजना की खमियां भी उजागर होने लगी हैं. इस परियोजना के तहत वृहद पाइपलाइन गड्ढा खोदकर बिछाई गयी है. साथ ही बड़ी टंकियों का निर्माण भी हुआ है. लेकिन कुछ पुराने टंकियों और पाइप लाइन का इस्तेमाल भी इस परियोजना में किया गया है. जिस कारण हजारों लीटर पानी सड़कों पर बहकर बर्बाद हो रहा है.

पाइप फटने से पानी हो रहा बर्बाद
इधर, पुरानी टंकियों के इस्तेमाल के दौरान मुसाबनी नंबर-दो स्थित पुरानी पानी टंकी, जो कि शुक्रवार को पाइप फटने के कारण लीक कर गयी और इसके कई मोटे पाइप फट गये. जिसके कारण हजारों गैलन पानी बर्बाद हो गया. इसके साथ ही कई और जगहों पर भी सप्लाई लाइन लीक कर रही है. जिसके कारण पानी का प्रेशर भी काफी कम है. इस संबंध में ग्रामीणों द्वारा शिकायत की जा रही है कि पानी की सप्लाई सही तरीका से नहीं किया जा रहा है. साथ ही पानी का प्रेशर भी काफी कम है.

नहीं होती पानी की नियमित सप्लाई
पानी की सप्लाई भी नियमित नहीं है. कहीं एक दिन छोड़कर, तो कहीं अबतक पानी की सप्लाई प्रारंभ नहीं हुई है. जिसे लेकर ग्रामीणों में रोष है. साथ ही पाइपलाइन बिछाने के लिए खोदे गये गड्ढों, जिनका पीसीसी किया जाना था. आजतक नहीं हो सका है. आने वाले बरसात में इसका खामियाजा क्षेत्र के ग्रामीणों को भुगतना पड़ेगा. गौरतलब हो कि सहन इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के द्वारा इस पाइप लाइन का कार्य किया गया है. उक्त कंपनी के द्वारा ही 5 वर्षों तक इसका मेंटेनेंस कार्य करना है, लेकिन कंपनी के कार्यप्रणाली से ग्रामीणों में रोष है.

ram janam hospital
Catalyst IAS

ये भी पढ़ें- Jamshedpur : कैंसर पीड़ित अमल पातर की मदद के लिए बाजार समिति व भाजपा आयी आगे

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

Related Articles

Back to top button