Jharkhand Vidhansabha Election

जमशेदपुर :  पप्पू यादव ने कहा,  सरयू राय ने आजादी की लड़ाई की शुरुआत की है, जो दिल्ली तक पहुंचेगी

 Jamshedpur : पूर्वी जमशेदपुर से निर्दलीय चुनाव लड़ रहे सरयू राय के लिए प्रचार करने बिहार के पूर्व सांसद पप्पु यादव जमशेदपुर पहुंचे. महंगाई के विरोध में प्याज की माला डाले उन्होंने पदयात्रा में हिस्सा लिया. इस क्रम में उन्होंने मीडिया से कहा, केंद्र सरकार कहती है कि 1 लाख टन प्याज विदेश से ला रहे हैं, ताकि प्याज सस्ता हो सके. कहा कि देश में प्रतिदिन प्याज की कुल खपत 45 हजार टन है, तो एक लाख टन प्याज कितने दिन चलेगा और फिर दो दिन के बाद क्या होगा.

इसे भी पढ़ें : झारखंड की चुनावी सभाओं में तथ्यों को तोड़ने-मरोड़ने की पुरानी परिपाटी को ही दोहरा गये प्रधानमंत्री

डबल इंजन की सरकार गरीबों पर बोझ बनती जा रही

केंद्र सरकार पर मुनाफाखोरी का आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने प्याज से लेकर पेट्रोल, बिजली और जमीन में मुनाफाखोरो को जगह दी है, जिसके चलते डबल इंजन की सरकार गरीबों पर बोझ बनती जा रही है. पप्पू यादव ने सवाल करते हुए पूछा कि क्या सरकार के पास यही समाधान है? सरकार की गलत नीतियों का विरोध करते हुए कहा कि सरयू राय की लड़ाई किसी व्यक्ति से नहीं है. सरयू राय ने आजादी की लड़ाई की शुरुआत की है जो झारखंड से बिहार होते हुए दिल्ली पहुंचेगी.

कहा कि देश की महिलाएं घरों में और सड़कों पर सुरक्षित नहीं है. ताजा उदाहरण हैदराबाद का है. एक भी ऐसा क्षेत्र नहीं है जहां सरकार नें अच्छा काम किया हो. आज की तारीख में सरयू राय हर उस मासूम की आवाज है जो जीना चाहता है जो आजादी चाहता है.

इसे भी पढ़ें :  #JharkhandElection: रोचक होगी निरसा सीट पर फाइट, लेफ्ट के गढ़ में लगेगी सेंध या फिर लहरायेगा ‘लाल झंडा’

पीएम मोदी के दौरे पर उठाये सवाल

पप्पू यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में जमशेदपुर के लिए एक बात भी नहीं बोली. हजारों फैक्ट्रियां बंद होने के कगार पर हैं. शहर में बेरोजगारी हर तरफ पसरी है. लेकिन दोनों मुद्दों पर बोलने के बजाय अपनी और रघुवर सरकार की ताऱीफ कर चल दिये. शहर में बेरोजगारी सबसे पड़ी समस्या है. केंद्र में मोदी सरकार है और राज्य में रघुवर सरकार. डबल इंजन की सरकार पर दोहरी नीति का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने एक भी बात ऐसी नही बोली जिससे लोग रोजगार को लेकर आश्वस्त हो सकें.

इसे भी पढ़ें : #Palamu: केएन त्रिपाठी-आलोक चौरसिया प्रकरण की जांच तेज, हिंसक झड़प और हथियार लहराने के कारण का पता लगाने में जुटी पुलिस

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button