HEALTHJamshedpurJharkhand

Jamshedpur : साफ-सफाई से बेपरवाह एमजीएम स्वास्थ्य मंत्री के आगमन पर हुआ चकाचक, बेडों पर बिछाये गये नये चादर

Jamshedpur : साफ-सफाई से बेपरवाह कोल्हान के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल महात्मा गांधी मेमोरियल (एमजीएम) कॉलेज एवं हॉस्पिटल में शनिवार को स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता का कार्यक्रम निर्धारित था. इससे पूर्व हॉस्पिटल मैनेजमेंट द्वारा अस्पताल परिसर की साफ-सफाई को दुरुस्त करने के साथ ही विभिन्न वार्डों के बेड़ों में पुराने फटेहाल चादरों को बदलते हुए नये एवं चकाचक बिस्तर लगाये गये. इतना ही नहीं, जिस अस्पताल में बेड पर चादर नहीं होते थे, वहां स्ट्रैचर तक में नये चादर बिछाए गये. अब इसे विडंबना कहें या फिर एमजीएम में भर्ती मरीजों के लिए खुशखबरी? ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि जब मंत्री या उच्च अधिकारी का अस्पताल में आगमन होता है, तो दिखावे में सब कुछ बदल जाता है. जबकि अन्य दिनों में मरीज के लाख कहने पर भी उनकी जरूरत की चीजें नहीं मिल पाती है.

दरअसल, एमजीएम अस्पताल में स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के आगमन की सूचना के साथ ही इमरजेंसी वार्ड के सभी बेड के बेडशीट बदलकर नये बिछाये गये. इस बदलाव से सभी मरीज चकित हो गये, उन्हें यह नहीं समझ आ रहा था कि आखिर जिस अस्पताल में प्रत्येक दिन बेडशीट मांगने पर भी नहीं मिलता था. यहां तक कि मरीजों को खुद घर से बेडशीट लाना पड़ता था. वहां एकाएक मरीजों के साथ इतनी मेहरबानी भला क्यों की जा रही है. अस्पताल में ये सारा बदलाव राज्य के एवं आपदा मंत्री बन्ना गुप्ता के कारण हुई है. आपकों बता दें कि शनिवार को अस्पताल में नवनिर्मित भवन “स्टेट ऑफ द आर्ट सिटी सेंटर” का उद्घाटन स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता को करना था. इसको लेकर सारा तामझाम किया गया था. ऐसे में अस्पताल प्रबंधन ने अपनी खामियां छुपाने के लिए इमरजेंसी वार्ड के सभी 35 बेड सहित जमीन में बिछाए गये 10 गद्दों पर नये बेडशीट बिछा दिये, ताकि मंत्री अगर दौरा करें, तो उन्हें बेडशीट की उपलब्धता और इमरजेंसी वार्ड चकाचक दिखे.

क्या कहा मरीजों ने
इमरजेंसी वार्ड में इलाजरत मरीज अनुपमा का कहना है कि वे पिछले 10 दिनों से अस्पताल में भर्ती है. उन्हें आजतक कभी बेडशीट नहीं मिला. अचानक आज सुबह नया बेडशीट लाकर बिछाया गया. वहीं एक अन्य मरीज नसरुद्दीन का कहना था कि बेडशीट तो थी, लेकिन काफी मैली हो चुकी थी. अचानक उन्हें नया बेडशीट लाकर दिया गया. इसी तरह जमीन पर बिछाए गये गद्दा पर इलाजरत मरीज ने कहा कि गद्दे के लिए कभी भी यहां बेडशीट नहीं मिला, लेकिन अचानक आज बेडशीट उपलब्ध कराया दिया गया.

ram janam hospital
Catalyst IAS

ये भी पढ़ें- रांची : कोलड्रीक्स व्यवसाय के आड़ में वर्षो से चल रहा था अवैध शराब का कारोबार, पांच गिरफ्तार

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

Related Articles

Back to top button