JamshedpurJharkhand

जमशेदपुर: पेट्रोल सब्सिडी योजना के योग्य लाभुकों के निबंधन में तेजी लाने के निर्देश

जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने अनुभाजन क्षेत्र के जन वितरण प्रणाली विक्रेता के साथ की बैठक

Jamshedpur : रविन्द्र भवन साकची के सभागार में जिला आपूर्ति पदाधिकारी सह विशिष्ट अनुभाजन पदाधिकारी राजीव रंजन ने शनिवार को अनुभाजन क्षेत्र के जन वितरण प्रणाली के विक्रेता के साथ पेट्रोल सब्सिडी योजना के बेहतर क्रियान्वयन को लेकर बैठक की. बैठक में जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने बताया कि जिले में अब तक इस योजना के तहत लगभग 15 हजार लोगों का रजिस्ट्रेशन कराया जा चुका है, जिनमें से पहले चरण में 1242 लोगों के बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से 250-250 रुपये भेजे जा चुके हैं. उन्होने बताया कि जन वितरण प्रणाली विक्रेता के माध्यम से या सीएमसपोर्ट एप द्वारा लाभुक स्वयं रजिस्ट्रेशन कराते हुए इस योजना का लाभ सकते हैं. बैठक में उपस्थित राशन डीलरों को 31 जनवरी तक कम से कम अपने 25 फीसदी कार्डधारियों को चिन्हित करते हुए उन्हें इस योजना का लाभ दिलाने हेतु रजिस्ट्रेशन कराने का स्पष्ट निर्देश दिया गया। जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने कहा सभी राशन डीलर अपने पोषक क्षेत्र के लोगों के बीच इस संबंध में जागरूकता लाएं, प्रचार.प्रसार करें ताकि राज्य सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना का लाभ सभी को मिल सके.

पेट्रोल सब्सिडी योजना का फायदा राशन कार्ड धारकों दिया जाएगा. जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने कहा कि इसके तहत उन लोगों को लाभ दिया जाना है जिनके पास लाल, पीला और हरा राशन कार्ड है. साथ ही अगर राशन कार्ड खराब हो चुका है या निरस्‍त है तो उसपर लाभ नहीं दिया जाएगा. जो राशन कार्ड वर्तमान में उपयोग में है सिर्फ उन्हें ही लाभ दिया जाएगा। इसके अलावा जिनके पास झारखंड राज्य निबंधन का दो पहिया वाहन है वही इसका फायदा ले सकते हैं।

ऐसे करना होगा आवेदन
-आवेदक को एप में सबसे पहले अपना राशन कार्ड एवं आधार संख्या डालना होगा. इसके बाद उसे आधार में दर्ज मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा.
-ओटीपी वेरिफेकेशन के बाद आवेदक को राशन कार्ड में अपना नाम सेलेक्ट करते हुए वाहन संख्या डालना होगा.
-इसके बाद वाहन संख्या जिला परिवहन पदाधिकारी के लॉगिन में जायेगा, जिसे जिला परिवहन पदाधिकारी द्वारा वेरीफाई किया जायेगा.
-वेरिफिकेयशन के बाद सूची जिला आपूर्ति पदाधिकारी के लॉगिन में जायेगी.

ram janam hospital
Catalyst IAS

Related Articles

Back to top button