ChaibasaJamshedpurJharkhand

Jamshedpur: तीन दिनों तक झाड़फूंक के बाद ओझा ने मानी हार, सर्पदंश से मृत बच्‍चे को ज‍िंदा करने का क‍िया था दावा

Ghatshila : झारखंड के पूर्वी स‍िंहभूम के नरसिंहगढ़ कालिंदी बस्ती में बीते शनिवार की रात सांप काटने से मृत 13 वर्षीय किशोर सागर कालिंदी को जिंदा करने का दावा ओझा सीताराम कहार ने क‍िया था. तीन दिनों तक झाड़-फूंक करने के बाद उसने हार मान ली और बताया क‍ि बच्‍चे को जिंदा करना संभव नहीं है. इसके बाद पर‍िजनों ने बुधवार दोपहर सागर कालिंदी के शव को केले के पेड़ से बनाये गये नाव में लिटा कर बहरागोड़ा के जामशोला घाट सुवर्णरेखा नदी में बहा दिया गया. ओझा के हार मानने के बाद सागर के पिता दीपक कालिंदी, मां अंगूर कालिंदी सहित परिवार के सदस्‍यों के साथ ही मोहल्ले के लोग शोक में डूब गये. गौरतलब हो क‍ि शनिवार की रात अपने घर में सोये हुए सागर को सांप ने काट लिया था. रविवार की सुबह पर‍िजन उसे सीएचसी ले गए जहां उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए एमजीएम रेफर कर दिया गया. एमजीएम में जांच के बाद चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर कर दिया था. इसके बाद ओझा द्वारा झाड़ – फूंक का खेल चलता रहा. मंगलवार तक ओझा सीताराम कहार बच्चे को जिंदा करने के दावा करता रहा. लेकिन बुधवार की सुबह उसने घरवालों को जवाब दे दिया.

ये भी पढ़ें- JAMSHEDPUR : जुगसलाई में रंगदारी देने से इंकार करने पर चाकू से हमलाकर छिनतई, दानिश उर्फ नेताजी समेत दो गिरफ्तार

Related Articles

Back to top button