Crime NewsJamshedpurJharkhand

जमशेदपुर: गैंगस्टर अखिलेश सिंह और सुधीर दुबे गिरोह के बीच गैंगवार, 6 घायल

Jamshedpur: पूरे राज्य में कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन लागू है. लोग अपने-अपने घरों में बंद हैं वहीं जमशेदपुर में इस लॉकडाउन के बीच गैंगवार की घटना सामने आयी है.

जमशेदपुर में गैंगस्टर अखिलेश सिंह और सुधीर दुबे गिरोह बीच बुधवार देर रात हुए गैंगवार में 6 से लोग घायल हो गये है. घटना सीतारामडेरा थाना क्षेत्र स्थित डीएवी पटेलनगर स्कूल के पास के हुई.

इस गोलीबारी में अखिलेश सिंह गिरोह के बागबेड़ा बस्ती निवासी कन्हैया सिंह, सोमनाथ सिंह, अंशु चौहान, सचिन कुमार सिंह, विक्रम कुमार मिश्रा और राजकुमार को गोली लगी है. सभी घायलों को टीएमएच हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. घटना के बाद पुलिस मामले की छानबीन में जुट गयी है.

इसे भी पढ़ें- #Corona : 29 अप्रैल को कुल 2 कोरोना पॉजिटिव, राज्य का आंकड़ा हुआ 107

क्या है मामला

अखिलेश सिंह गिरोह के लोगों ने बताया कि वे लोग भुइयांडीह स्थित लकड़ी टाल के पास रहने वाले अपने भतीजा अंशु चौहान के घर गये थे. वे लोग एक बोलेरो और एक स्कोर्पियो से बागबेड़ा से भुइयांडीह गये थे.

कन्हैया सिंह और उसका भाई सोमनाथ सिंह, भतीजा अंशु, विक्रम कुमार मिश्रा और राजकुमार अपने भतीजे के घर मे ही पार्टी कर रहे थे. इसी दौरान सुधीर दुबे ने अंशु के मोबाइल पर फोन किया और कहा कि वे लोग चाहते है कि आपस में समझौता कर लिया जाए और इसे लेकर वो बात करना चाहते हैं.

सुधीर ने सभी को बातचीत के लिए डीएवी पटेलनगर स्कूल के पास बुलाया. इसके बाद जब कन्हैया सिंह और बाकी लोग वहां जैसे ही पहुंचे और गाड़ी का दरवाजा खोला उनपर सुधीर दुबे ने फायरिंग शुरू कर दी.

राजीव राम और कल्लू रॉय ने भी फायरिंग में सुधीर का साथ दिया. अचानक हुई फायरिंग से बचने के लिए कन्हैया सिंह और बाकी लोग भागने लगे साथ ही काउंटर फायरिंग भी की लेकिन सुधीर दुबे और अन्य लोग वहां से भाग गये.

इसे भी पढ़ें- स्टॉफ व डॉक्टर को बचाते हुए कोरोना मरीज के सफल इलाज से साबित हुआ कि जीत हमारी होगी : राज अस्पताल

अखिलेश सिंह की हत्या के लिए सुधीर दुबे ने मंगाई एके-47

बक्सर के सुधीर दुबे ने हजारीबाग जेल से छूटने के बाद दुमका जेल में बंद अखिलेश सिंह के खिलाफ बड़ा गिरोह तैयार किया है. उसने अखिलेश सिंह की हत्या के लिए पांच हथियार खरीदे हैं. इनमें दो बरेटा और दो सीजेड कंपनी की पिस्तौल हैं.

उसने नागालैंड से साढ़े तीन-तीन लाख रुपये में दो एके-47 खरीदे हैं. सुधीर दुबे पहले अखिलेश सिंह गिरोह का सदस्य था. उसके लिए कई हत्याएं की. लेकिन हजारीबाग जेल जाने के बाद उसने अपना नया गिरोह खड़ा कर लिया. पिछले जनवरी महीने में जमशेदपुर पुलिस के द्वारा तीन दिनों के रिमांड पर लिए गये पलामू जिले का अपराधी सुजीत सिन्हा ने पुलिस के सामने यह खुलासा किया था. मालूम हो कि गैंगस्टर अखिलेश सिंह दुमका जेल में बंद है.

इसे भी पढ़ें- अपने संसाधनों से मजदूरों को लाने में लगेगा छह माह का समय, केंद्र करे सहयोग : हेमंत सोरेन

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: