Crime NewsJamshedpurJharkhand

Jamshedpur Fraud : निवेशकों को झांसा देकर करोड़ों रुपये लेकर भागी मैक्सीजोन कंपनी, जमशेदपुर के दस हजार लोगों की गाढ़ी कमाई डूबी

Jamshedpur : लाखों निवेशकों का करोड़ों रुपये लेकर गाजियाबाद की एमएलएम कंपनी मैक्सिजोन टच प्राइवेट लिमिटेड कंपनी फरार हो गई. इसमें जमशेदपुर के भी करीब दस हजार लोग शामिल हैं. उन्होंने कंपनी से जुड़े लोगों के झांसे में आकर अपनी मेहनत की गाढ़ी कमाई निवेश की थी. उन लोगों को निवेश के बदले हर महीने हजारों रुपये कमाने का सब्जबाग दिखाया गया था. अब ठगी का अहसास होने पर निवेशकों ने उपायुक्त कार्यालय पहुंचकर प्रशासन से मामले की जांच कर दोषियों पर कार्रवाई करने की मांग की है ताकि उनकी निवेश की गई रकम वापस मिल सके. इन निवेशकों ने बताया कि कंपनी ने 22 अगस्त 2019 में गाजियाबाद से अपने बिजनेस की शुरुआत की थी. उसके एमडी भूषण सिंह और उनकी पत्नी प्रियंका सिंह हैं.
ऐसे किया लोगों को गुमराह
ठगी के शिकार लोगों ने बताया कि कंपनी निवेशकों को 15 से 18 प्रतिशत प्रति माह उनके इन्वेस्टमेंट के आधार पर प्रॉफिट प्रदान करती थी. कहीं कंपनी से जुडे़ लोगों के पर्दे के पीछे का खेल समय से पहले खुल नहीं जाये और निवेशकों का उन पर विश्वास बना रहे, इसे लेकर पिछले दो साल से निवेशकों को समय पर प्रॉफिट भी दिया गया. इससे निवेशकों को भी धंधा काफी मुनाफा देनेवाला लगा.
फिल्मी हस्तियों का भी लिया सराहा
इसके अलावा निवेशकों को बड़े-बड़े सपने दिखाकर गुमराह करने के लिए कंपनी ने कई जाने-माने फिल्मी हस्तियों का भी सहारा लिया. कंपनी समय-समय पर सेमिनार का आयोजन करती थी. उसमें बॉलीवुड के अभिनेता गोविंदा, चंकी पांडे, शक्ति कपूर के अलावा भाजपा सांसद और गायक मनोज तिवारी तक का नाम सामने लाया गया.
कंपनी के लॉस में चलने की बात कह हड़प ली निवेशकों की राशि
इस बीच एक ऐसा वक्त भी आया जब निवेशकों को प्रॉफिट मिलना बंद होने लगा. इसका कारण पूछे जाने पर कंपनी से जुडे़ लोगों ने कहा कि कंपनी लॉस में चल रही है. इसे लेकर कुछ समय तो निवेशक शांत रहें, उसके बाद फिर जब निवेशकों ने कंपनी के लोगों पर दबाव बनाना शुरू किया तो उन्हें कहा गया कि डिजिटल प्रोसेस की वजह से पैसे भुगतान करने में समय लग रहा है. इसके साथ ही वे निवेशकों को सारा कुछ ठीक हो जाने की बात भी कहते रहें, ताकि उनका विश्वास कंपनी पर बना रहे. यह दौर अप्रैल महीने तक चला. इस बीच कंपनी के अधिकारी निवेशकों को ठग कर भाग निकलने की तैयारी में लगे रहे.
ऐप से रुपये विड्रॉल नहीं होने पर लोगों का बढ़ा आक्रोश
इस बीच कंपनी के एमडी भूषण सिंह समय-समय पर इंस्टाग्राम पर लाइव आकर निवेशकों से रुबरु भी होते रहें. उन्होंने कहा था कि 18 अप्रैल 18 अप्रैल को सारी राशि ऐप के जरिए विड्रॉल हो जायेगी. उसके बाद भी मैक्सिजोन के ऐप से रुपये विड्राल नहीं होने पर लोगों का आक्रोश बढ़ गया.
दो महीने में परिचितों को किये कई बड़े ट्रांजेक्शन
न‍िवेशकों ने सोचा कि बैंक जाकर पता करते हैं कि आखिर माजरा क्या है. बैंक जाने पर निवेशकों को पता चला कि भूषण सिंह ने कंपनी के अकाउंट से पिछले दो महीने में अपने परिचितों को बड़े-बड़े ट्रांजेक्शन किये हैं. इसमें उनके दोस्तों के अलावा परिवार के लोग भी शामिल हैं. स्थिति यहां तक आ पहुंची कि हद से अधिक ट्रांजेक्शन के होने की वजह से बैंक ने अकाउंट तक फ्रीज कर दिया. उसके बाद निवेशकों ने कंपनी के एमडी और उसकी पत्नी के बारे काफी पता लगाने की कोशिश की, लेकिन उनका कोई पता उन्हें हासिल नहीं हुआ. तब निवेशकों को समझ में आया कि कंपनी उनका करोड़ों रुपया लेकर फरार हो चुकी है.

ये भी पढ़ें- सरायकेला  : उधार में दिये रुपये मांगने पर हमला कर मां-बेटे को घायल किया, लाठी-डंडे के साथ पिस्टल के बट से मारने का आरोप

Related Articles

Back to top button