JamshedpurJharkhand

#Jamshedpur: वनभोज के बहाने भारतीय जन मोर्चा की पहली बैठक, तय हुई रणनीति, सरयू ने दिये टिप्स

Jamshedpur: भारतीय जन मोर्चा (बीजेएम) के वनभोज में पार्टी के सैकड़ो कार्यकर्ता शामिल हुए. वनभोज के दौरान कार्यकर्ताओं की पहली बैठक भी हुई. बैठक में विकास के मुद्दों पर नए सिरे से चर्चा हुई.

बैठक में पूर्वी जमशेदपुर के विधायक सरयू राय ने जरूरी दिशा-निर्देश भी दिये. राय का कहना था कि पार्टी में कार्यकर्ताओं की ज्य़ादा संख्या पूर्वी और पश्चिमी जमशेदपुर से होने के चलते बीजेएम का मेन फोकस दोनों विधानसभा क्षेत्र ही होंगे.

कार्यकर्ताओ के साथ बैठक में कुछ रणनीति भी फाइनल की गयी जिसपर सभी की सहमति ली गयी. सरयू ने कहा कि जो रणनीति बनी है उससे कार्यकर्ताओं को भटकने की जरूरत नहीं.

advt

दोनों विधानसभा क्षेत्र के प्रभारी अजय कुमार और मुकुल मिश्रा को खासतौर से हिदायत देते हुए उन्होंने कहा कि दोनों प्रभारियों को केवल मॉनिटर करना है कि कार्यकर्ता बनायी गयी रणनीति से भटकें नहीं.

इसे भी पढ़ें : लोहरदगा: पुलिस के वरीय अधिकारी कर रहे कैंप, सोशल मीडिया पर भी नजर

बीजेएम की क्या होगी रणनीति

भारतीय जन मोर्चा का मुख्य मकसद दोनों विधानसभा क्षेत्र में विकास में गति लाने की है. रणनीति के तहत ये तय किया गया कि पार्टी उन इलाकों को चिन्हित करेगी जहां मूलभूत सुविधाओ की कमी हो.

उदाहरण के तौर पर पानी, बिजली और सडक. बीजेएम का पहला काम उन समस्याओ को तलाशना होगा जिसके चलते लोगों को बेसिक सुविधा नहीं मिल रही है.

adv

पार्टी को इससे कोई लेने-देना नहीं की कौन यहां का विधायक है और किसने फलां इलाके में कितने साल राज किया. जो हो गया उस पर सोचने के बजाय भारतीय जन मोर्चा धरातल पर रहकर जमीनी हकीकत के हिसाब से काम करेगी.

इसे भी पढ़ें : सांसद आदर्श ग्राम योजना: गांवों को गोद तो ले रहे राज्यसभा सांसद, लेकिन मंत्रालय को नहीं दी जा रही रिपोर्ट

कैसे भटक जाते हैं कार्यकर्ता

रणनीति बनाते वक्त सरयू राय ने कहा कि कार्यकर्ता आमतौर पर जनसमस्या के बजाय लोगों की छोटी-छोटी परेशानियों में उलझ जाते हैं.

उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि वोटर कार्ड, आधार या पैन कार्ड बनवाने के चक्कर में या पेंशन, राशन कार्ड के चक्कर में जनसमस्या क्या है और कैसे समस्या का निपटारा होगा इस पर ध्यान देना भूल जाते हैं.

हालांकि ये स्वीकारते हुए उन्होंने कहा की आधार, पैन और वोटर कार्ड में लोगों की मदद करना भी जरूरी है. लेकिन पहली प्राथमिकता ये होनी चाहिए की किसी क्षेत्र या कॉलोनी की बड़ी समस्या का समाधान जल्द हो.

इसका असर भी व्यापक होगा और एक बड़े तबके तक बेसिक सुविधा पहुंचाने की खुशी भी अलग होगी.

किसी मुगालते में न रहें कार्यकर्ता

सरयू राय ने कार्यकर्ताओं को पार्टी का मकसद साफ-साफ समझाते हुए कहा कि भारतीय जन मोर्चा का लक्ष्य झारखंड की सबसे बड़ी पार्टी बनना नहीं है. इसीलिए किसी को मुगालते में रहने की जरूरत नहीं है.

फिलहाल पार्टी ने अपने लिए छोटे-छोटे लक्ष्य तय किये हैं. सारे लक्ष्य दोनों विधानसभा क्षेत्र में विकास का नया पैमाना तय करेंगे. उसके बाद भविष्य में प्रतिक्रिया के आधार पर पार्टी की नयी दशा–दिशा तय की जायेगी.

इसे भी पढ़ें : तीन दिनों की रिमांड में गैंगस्टर सुजीत सिन्हा ने खोले कई राज

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button