JamshedpurJharkhand

#Jamshedpur:  शहर में गंदगी और पानी कनेक्शन को लेकर डीसी ने तीनों नगर निकाय के पदाधिकारियों को फटकारा  

Jamshedpur : शहर के तीन निकाय क्षेत्रों में फैली गंदगी के और पानी के कनेक्शन को लेकर डीसी रविशंकर शुक्ला ने झारखंड अधिसूचित क्षेत्र समिति(जेएनएसी) मानगो नगर निगम और जुगसलाई नगर परिषद के पदाधिकारियों की जमकर क्लास ली. लंबे समय से मिल रही  शिकायतों की भड़ास डीसी ने पदाधिकारियों पर निकाली और फिर पूछा कि आखिर क्यों अभी तक जुगसलाई में पानी के कनेक्शन का काम पूरा नहीं हो सका है. इसको पूरा होने में और कितना वक्त लगेगा.

जुगसलाई के कई इलाकों में पानी के कनेक्शन नहीं लगने की शिकायत सालों भर उनको मिलती है,  जबकि हर घर को पानी का कनेक्शन देने पर फैसला दो साल पहले लिया जा चुका है. लेकिन उनके पास ताजा अपडेट नहीं होने के चलते जवाब देने में असमर्थ हो जाते है. इस क्रम में डीसी ने कार्यपालक पदाधिकारी जुगसलाई नगर परिषद को तेजी से काम पूरा करने को कहा और चेतावनी देते हुए कहा कि अगर इसमें देरी होती है तो उन पर  कार्रवाई भी हो सकती है.

इसे भी पढ़ें : #Dhullu तेरे कारण: केके साइडिंग के मजदूरों ने कहा- विधायक को रंगदारी देने में ही चला जाता है पैसा

कचरा उठाव का नया रोडमैप जरूरी

डीसी रविशंकर शुक्ला ने शहर में गंदगी को लेकर पदाधिकारियों से पूछा कि मानगो बस स्टैड, स्टेशन रोड समेत कई कॉलोनियों में कचरा उठाव के लिए रोजाना गाड़ियां क्यों नहीं पहुंचती है. पॉश कॉलोनियों में और शहर के चौक पर गंदगी पसरी  रहती है,   जो बीमारियों की जड़ है. कहा कि पुराने सिस्टम से कचरा उठाव की समस्या दूर नहीं हो रही है. कचरा उठाव का नया रोडमैप बनाकर एक कॉपी डीसी कार्यालय में  सौंपने को कहा.

इसे भी पढ़ें : धनबादः सीएम की सभा से पहले बंटी अखबार की कतरन, लोगों को बताया- रघुवर दास ने ही झरिया को उजाड़ देने की घोषणा की थी

शहर में डेंगु का प्रकोप

सभी मुद्दों पर नजर डालने के बाद डीसी रविशंकर शुक्ला ने अलग से शहर में डेंगु के प्रकोप पर चर्चा की. 2019 में जमशेदपुर में 55 लोग डेंगु का शिकार हो चुके हैं. एंटीलार्वा का छिडकाव और फॉगिंग करते रहने का आदेश जारी करते हुए डीसी ने कहा कि  बरसात जाने के बाद जहां-जहां जलजमाव है , वहां से रेग्युलर इंटरवल पर सैंपल लेकर जांच की जानी चाहिए. ताकि शहर में डेंगु फैल नहीं सके . इसके अलावा जागरुकता अभियान चलाने पर जोर दिया गया, ताकि जरूरी एहतियात लोग बरत सकें और डेंगु की रोकथाम में सफलता मिल सके. बता दें कि 2017 में जमशेदपुर डेंगु का दंश झेल चुका है. यहां 500 लोगों ने अपनी जान गंवाई थी.

इसे भी पढ़ें : घाटे में है बिजली विभाग, हम नहीं करते निशुल्क बिजली का वादाः रघुवर दास

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: