JamshedpurJharkhand

जमशेदपुर : चार स्टेज में पूरी होगी आदित्यपुर-खड़गपुर थर्ड लाइन, रेलवे करेगा 1300 करोड़ निवेश

Abinash mishra

Jamsedpur : रेल विकास निगम लिमिटेड 1300 करोड़ की लागत से 132 किमी थर्ड लाइन का निर्माण 2022 तक पूरा कर लेगी.   थर्ड लाइन आदित्यपुर और खड़गपुर के बीच बनेगी. चार स्टेज में होने वाला निर्माण कार्य रूस की एसटीएस और भारत की केईसी कंपनी के ज्वाइंट वेंचर में पूरा होगा. रेलवे विकास निगम ने सारी औपचारिकताएं भी पूरी कर ली है.  बीते हफ्ते दोनों कंपनियों की टीम ने पूरे ट्रेक का रोडमैप भी तैयार कर लिया है

  स्टेज वाइज होगा निर्माण कार्य

चार स्टेज में पूरा होने वाले इस निर्माण में हर एक स्टेज का टाइम फ्रेम  तैयार है. जिसमें सबसे पहले खडगपुर-झारग्राम का काम पूरा होगा. 32 किमी के पहले स्टेज का काम फरवरी 2020 में पूरा होगा. उसके बाद दूसरे स्टेज में झारग्राम-चाकुलिया के बीच 28 किमी का काम 2020 के दिसंबर तक पूरा करने का लक्ष्य है.

Sanjeevani

तीसरे चरण में 2021 सितंबर तक चाकुलिया-घाटशिला के बीच थर्ड लाइन बिछा ली जाएगी और आखिरी चरण में दिसंबर 2022 तक घाटशिला-आदित्यपुर की बीच थर्ड लाइन को पूरा करने की योजना बनाई गयी है. इस प्रोजेक्ट में 18 बडे ओर 150 छोटे पुल का भी निर्माण होना है. 16 स्टेशनों को थर्ड लाइन से जोड़ने वाला ये प्रोजेक्ट झारखंड में 77 किमी लंबा होगा. बंगाल का 55 किमी का हिस्सा प्रोजेक्ट  में शामिल है.

इसे भी पढ़ें : झारखंड में बच्चा चोरी की अफवाह पर हो रही है लोगों की पिटाई, पिछले पांच दिनों में हुई सात लोगों की पिटाई

क्यों जरूरी है यह प्रोजेक्ट

मुंबई-हावडा मेंन लाइन पर ट्रेनों को समय से चलाने के लिए इस थर्ड लाइन की दरकार सालों से थी. 2015-16 में रेलवे ने इसको बनाने का फैसला लिया था,  जिस पर काम अगले महिने से शुरु होगा. टाटानगर स्टेशन से करीब 200 ट्रेन रोजाना गुजरती है और माल गाड़ी की संख्या अलग है .जिससे प्लेटफॉर्म पर हमेशा दबाव बना रहता है.थर्ड लाइन के आ जाने से आदित्यपुर में भी कई ट्रेनों को रोका जा सकेगा.  साथ ही टाटा से खुलने वाली ट्रेनों के डिब्बों का मेंटेनेंस में भी सहूलियत होगी , ताकि टाटानगर स्टेशन पर ट्रेनों का दबाव कम हो सके. इसीलिए थर्ड लाइन का इंतजार लंबे समय से यहां के रेलवे अधिकारियों और रेल यात्रियों महसूस हो रहा है.

इसे भी पढ़ें – IPRD: प्रेस विज्ञप्ति बनाने के लिए पत्रकारों को नियुक्त करने वाली Dreamline Technology कंपनी सैलरी से ही काटती है GST

क्या कहते हैं रेल विकास निगम के अधिकारी

रेल विकास निगम लिमिटेड के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर राजेश प्रसाद का कहना है कि  निर्माण में क्वालिटी का ध्यान रखा जाएगा और अभी विंडो निरीक्षण का काम शुरू हो चुका है. रेलवें की कोशिश होगी कि जो टाइम फ्रेम तय किये गये है उसमें थोड़ी भी लापरवाही नहीं हो. क्योंकि बढ़ती ट्रेनों की संख्या का दबाव टाटानगर स्टेशन अकेले नहीं झेल सकता.

रेलवे 20,000 पेड़ लगाने का काम करेगा

रेलवे के चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर मनोज  का कहना है कि टाटानगर स्टेशन के आसपास 400 से ज्यादा अतिक्रमण को भी हटाने का काम पूरा कर लिया गया है.लेकिन पूरी थर्ड लाइन में  5000 पेड़ों को भी काटना है जिसकी अनुमति वन विभाग से ली गयी है.  आधे से ज्यादा पेड़ो को  काटा जा चुका है और इसके एवज में रेलवे 20,000 पेड़ लगाने का काम करेगा

इसे भी पढ़ें –महिला के साथ विधायक ढ़ुल्लू महतो ने की थी अश्लील हरकत,  HC ने DGP से पूछा क्यों नहीं दर्ज हुई प्राथमिकी

Related Articles

Back to top button