JamshedpurJharkhand

#Jamshedpur: एकदिवसीय रोजगार मेले में शामिल हुईं 20 प्राइवेट कंपनियां, सरकारी कंपनियां गायब रहीं

Jamshedpur: कदमा उलियान मैदान में एक दिवसीय रोजगार मेला का आयोजन मंगलवार को हुआ. झारखंड स्टेट लाइवलीहुड प्रमोशन सोसाईटी (जेएसएलपीएस) की तरफ से आयोजीत रोजगार मेले में 20 कंपनियों ने शिरकत की. सभी प्राइवेट सेक्टर से थीं.

इस मेले में एक भी सरकारी कंपनी ने शिरकत नहीं की. मेले में आयी कंपनियो ने 1000 से ज्यादा युवाओं के साक्षात्कार लिये. चयन प्रक्रिया में शामिल युवाओं में उत्साह देखने को मिला.

advt

कुछ कंपनियों ने लिखित परीक्षा और साक्षात्कार के बाद चयनित छात्रों को ज्वाइनिंग लेटर तक दे दिया. वैसे तो मेले में लोकल और बाहर से आने वाली कंपनियां ऑटो सेक्टर, एफएमएसीजी, सॉफ्टवेयर, इलेक्ट्रॉनिक और सर्विस सेक्टर  से थीं, लेकिन कई और बड़े क्षेत्र की कपनियां मेले से नदारद रहीं.

इसे भी पढ़ें : #Aadhaar लिंक न होने की वजह से एक साल से बंद है राशन, आवेदन देने के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई

मेले से बड़ी कंपनी गायब

जेएसएलपीएस के इस प्रयास में एक भी सरकारी कंपनियां नहीं दिखी जिसके चलते युवाओ में निराशा तो थी ही, बैंकिंग, स्टील और फार्मा से जुड़े य़ुवाओं को भी खाली हाथ लौटना पड़ा.

adv

मेले से खाली हाथ लौटने वाले युवा राजेश कहते हैं कि टाटा स्टील जो जमशेदपुर में ही है लेकिन मेले से गायब है. राजेश आगे कहते हैं कि वो यही के रहने वाले हैं और उनकी इच्छा टाटा स्टील में नौकरी की थी लेकिन कंपनी के नही आने से वो निराश है.

बिरसानगर के रहने वाले विकास कहते हैं कि उन्होंने बैंकिंग की तैयारी की है तो दूसरे क्षेत्र की कंपनियों में उनका चयन कैसे होगा. यदि बैंकिंग सेक्टर की कंपनी होती तो उनको भी नौकरी का मौका मिलता.

कई युवाओं को इस बात की हैरानी थी कि लौहनगरी और औद्योगिक हब होने के बावजूद मेले में एक भी स्पंज आयरन और मिनरल सेक्टर की कपनी नहीं आयी जबकि यहां ऐसी कंपनियों की भरमार है.

इसे भी पढ़ें : हेमंत सरकार का पहला मंत्रिमंडल विस्तार, झामुमो के पांच और कांग्रेस के दो मंत्री बने

क्या कहते हैं अधिकारी

प्रादेशिक नियोजनालय के सहायक निदेशक शशि भूषण झा के मुताबिक उनकी कोशिश थी कि ज्यादा से ज्यादा कंपनियां इस मेले में आयें. इसके लिए उनको कई कंपनियों की सहमति भी मिली थी.

झा का कहना है कि किन कारणों के चलते कंपनियों ने शिरकत नही की वो इसका पता लगाने की कोशिश करेंगे. युवाओं को निराश नहीं होने के लिए कहते हुए झा ने कहा कि ये कोई अंतिम मेला नहीं है. अभी और कई ऐसे आयोजन इस साल किये जायेंगे जहां युवाओ को अवसर मिलेगा.

इसे भी पढ़ें : 14 फरवरी के बाद JSSC शुरू करेगा सीजीएल व हाईस्कूल शिक्षक नियुक्ति प्रक्रिया

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close