न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः आतंकियों का सेना के कैंप पर हमला, एक जवान शहीद

गुरुवार रात हुए हमले की जैश-ए-मुहम्मद ने ली जिम्मेदारी

47

Shrinagar: जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों के कार्रवाई से बौखलाये आतंकवादियों ने दक्षिण कश्मीर के त्राल में सेना के कैंप पर हमला कर दिया. गुरूवार को आतंकवादियों की ओर से स्नाइपर राइफल से किये गए हमले में सेना का एक जवान शहीद हो गया. जबकि एक जवान की हालत गंभीर है. ज्ञात हो कि पिछले एक हफ्ते में ये इस तरह का दूसरा हमला है.

इसे भी पढ़ेंःराज्य प्रशासनिक सेवा के 420 पोस्ट खाली, 25 अफसरों पर गंभीर आरोप, 07 सस्पेंड, 06 पर डिपार्टमेंटल प्रोसिडिंग, 05 पर दंड अधिरोपण

पिछले एक हफ्ते में दूसरा हमला

मामले की जानकारी देते हुए अधिकारियों ने बताया कि आतंकवादियों ने लूरागाम स्थित 42 आर आर शिविर में रात लगभग नौ बजे यह हमला किया. इस हमले में सिपाही नगमसिआमलियाना शहीद हो गए. वह गार्ड ड्यूटी पर तैनात थे. अधिकारियों ने बताया कि उनके सिर पर गोली लगी. हमले में एक अन्य जवान थाक धोनी घायल हो गया. आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेवारी ली है.

पिछले चार दिन में यह ऐसा दूसरा हमला है जब सुरक्षा संस्थानों पर हमले के लिए आतंकवादियों ने स्नाइपर राइफल का इस्तेमाल किया है. इससे पहले 21 अक्टूबर को आतंकवादियों ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के शिविर पर हमला किया था जिसमें एसएसबी का एक जवान शहीद हो गया था.

इसे भी पढ़ें – अब पाकुड़ की जनता कह रही कैसे डीसी के संरक्षण में हो रहा है अवैध खनन, सवालों पर डीसी चुप

सुरक्षा बलों की कार्रवाई से बौखलाये आतंकी

बताया जा रहा है कि कैंप में अचानक अंधाधुंध फायरिंग होने से जवानों को संभलने में थोड़ा वक्त लगा. लेकिन जल्द ही मोर्चा संभालते हुए जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई में गोलियां चलाईं. फिलहाल आतंकी हमले के बाद सेना ने इलाके को चारों ओर ले घेरकर सर्च अभियान शुरू कर दिया है.

उल्लेखनीय है कि इससे पहले गुरुवार दोपहर को अनंतनाग और बारामूला में सुरक्षा बलों ने 6 आतंकियों को मार गिराया था. बताया जा रहा है कि इसमें से कई आतंकी उच्च शिक्षा प्राप्त थे. माना जा रहा है कि जवानों के एक्शन से परेशान और बौखला कर ही आतंकियों ने सेना के कैंप को अपना निशाना बनाया है.

इसे भी पढ़ेंःJPSC: एक पेपर जांचने के लिए चाहिए 60 से अधिक टीचर, मेंस एग्जाम की कॉपी चेक करना बड़ी चुनौती

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: