न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः शहरी निकाय चुनाव के पहले चरण के लिए वोटिंग, सुरक्षा कड़ी

दक्षिण कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद, हुर्रियत नेता नजरबंद

103

Shrinagar: जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों की धमकी और कुछ राजनीतिक दलों के बायकॉट के बीच सोमवार को शहरी निकाय चुनाव के पहले चरण के लिए वोट डाले जा रहे हैं. वोटिंग सुबह 7 बजे से शुरू हुई है, जो शाम चार बजे तक चलेगी. 584 मतदान केंद्रों पर 4.42 लाख लोगों के वोट डालने की संभावना है. पहले चरण में कुल 11 जिलों में वोटिंग की जा रही है. मतदान को देखते हुए राज्य में सुरक्षा को बढ़ा दी गयी है. वही मतगणना 20 अक्टूबर को होगी.

दक्षिण कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट बंद

निकाय चुनाव को लेकर आतंकियों की धमकी के बाद सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गये हैं. वही वोटिंग को देखते हुए दक्षिण कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट को बंद कर दिया गया है, जबकि अन्य इलाकों में इंटरनेट की स्पीड को घटाकर 2G तक सीमित कर दिया गया है. इदर वोटिंग से एक दिन पहले सुरक्षा बलों ने इलाके में सर्च अभियान चलाया. कुछ छह गांवों की तलाशी हुई.
हालांकि धमकी के बावजूद लोग अपने घरों से निकल रहे हैं, और अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे हैं. वही कई लोगों को इस बारे में बहुत कम मालूम है. उनमें से कई तो अपने उम्मीदवारों को नहीं जानने तथा मतदान की तारीख पता नहीं होने की शिकायत की.

hosp1

हुर्रियत नेता नजरबंद

स्थानीय निकाय चुनाव की वोटिंग में कोई दिक्कत ना हो, इसे ध्यान में रखते हुए हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के नेता मीरवाइज़ उमर फारूक को नज़रबंद कर लिया गया. उन्होंने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. इसके अलावे यासीन मलिक और सैयद अली शाह गिलानी को भी नज़रबंद किया जा चुका है. इधर कई सीटों पर नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी ने अपने उम्मीदवार नहीं खड़े किये हैं, जिसकी वजह से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार पहले ही जीत दर्ज कर चुके हैं.

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में निकाय चुनाव चार चरणों में होंगे. पहला चरण 8 अक्टबूर, उसके बाद दूसरे चरण का मतदान 10 अक्टूबर को, तीसरे फेज की वोटिंग 13 अक्टूबर और अंतिम चरण का मतदान 16 अक्टूबर को होगा. जबकि वोटों की गिनती 20 अक्टूबर को होगी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: