National

जम्मू -कश्मीर : अनंतनाग में पत्थरबाजी, स्थानीय ट्रक ड्राइवर की मौत,  22वें दिन भी जन-जीवन प्रभावित  

Shrinagar : दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में रविवार शाम प्रदर्शनकारियों द्वारा की गयी पथ्थरबाजी में एक कश्मीरी ट्रक चालक की मौत हो जाने की खबर है.  पुलिस के अनुसार  नूर मोहम्मद डार (42) अनंतनाग जिले के जरादीपुरा उरानहाल इलाके का रहने वाला था.  घटना के समय अपने घर लौट रहा था. इस क्रम में प्रदर्शनकारियों ने नूर के ट्रक को गलती से सुरक्षाबलों का वाहन समझकर पथराव कर दिया.

Jharkhand Rai

आरोपी पत्थरबाज को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, जानकारी के अनुसार  चालक को सिर में चोट लगने के बाद  बिजबेहरा अस्पताल ले जाया गया. बिजबेहरा अस्पताल के चिकित्सकों ने उसकी गंभीर हालत को देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद शेर-ए-कश्मीर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एसकेआईएमएस) रेफर कर दिया, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया.

पुलिस ने बताया कि प्रदर्शनकारी आम लोगों पर भी पथराव करते रहे हैं.  इस माह की शुरुआत में श्रीनगर शहर में पथराव में 11 वर्षीय लड़की की आंख में चोट आयी थी.  पुलिस ने कहा कि गिरफ्तार युवकों का कोई पिछला आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है और इस अपराध के पीछे उनकी मंशा जानने की कोशिश की जा रही है.

पत्थरबाजी की ताजा घटना पर जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक दिलबाग सिंह ने अधिकारियों को आरोपियों को पकड़ने और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया था.

Samford

इसे भी पढ़ेंः बुलंदशहर हिंसा: 7 आरोपी जमानत पर छूटे, जेल से निकलने पर फूल-मालाओं से हुआ स्वागत, सेल्फी ली, जय श्री राम के नारे लगे

निजी वाहनों की आवाजाही में सुधार हुआ है : डीजीपी

इससे पूर्व डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि वह पिछले दो सप्ताहों में राज्य के सभी क्षेत्रों में गये है,  यह बात काफी उत्साहित करने वाली है कि कदमों के अच्छे नतीजे सामने आये हालांकि, उन्होंने कहा कि सभी जिलों में सुरक्षा को मजबूत बनाये रखने की जरूरत है. आतंकवादियों के खिलाफ घेराव एवं खोज अभियानों का जिक्र करते हुए सिंह ने कहा कि उनके खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी. उन्होंने अधिकारियों को जनता के साथ करीबी संपर्क बनाये रखने और उनकी परेशानियों को हल करने के निर्देश दिये,  डीजीपी ने कहा कि अफवाह फैलाने वाले लोगों के खिलाफ भी प्रभावी कार्रवाई की गयी.

कारोबारी प्रतिष्ठान बंद रहे

वहीं, कश्मीर घाटी में सोमवार को लगातार 22वें दिन आम जीवन प्रभावित रहा. यहां के बाजार और स्कूल बंद रहे लेकिन शहर में निजी वाहनों की आवाजाही में सुधार हुआ है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि घाटी के ज्यादातर हिस्सों में पाबंदियां हटाई जा चुकी हैं लेकिन कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए सुरक्षा बलों की तैनाती जारी रहेगी.

अधिकारियों ने बताया कि कश्मीर में ज्यादातर स्थानों पर लैंडलाइन टेलीफोन सेवाएं बहाल की जा चुकी हैं, लेकिन कारोबार का केंद्र माने जाने वाले लाल चौक और प्रेस एन्क्लेव क्षेत्र में यह सेवा अब भी बंद है.

अधिकारियों का कहना है कि रविवार को स्थिति शांतिपूर्ण रही और घाटी में कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं है. उन्होंने बताया कि घाटी में 22वें दिन भी दुकानें और अन्य कारोबारी प्रतिष्ठान बंद रहे.

वहीं सार्वजनिक परिवहन भी नजर नहीं आया. अधिकारियों ने बताया कि शहर और घाटी के अन्य हिस्सों में निजी वाहनों के आवागमन में बढ़ोतरी हुई है. निजी शैक्षणिक संस्थान अब भी बंद हैं और सरकारी स्कूलों में छात्रों की उपस्थिति कम रही.

इसे भी पढ़ें : आतंकी फंडिंग में BJP IT CELL से जुड़े तीन गिरफ्तार, दिग्विजय ने कहा- धिक्कार है शिवराज, तुम्हारे चेले ISI के एजेंट

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: