National

# Jammu-Kashmir  : वर्षों से बंद 50 हजार मंदिरों को खोलने की कवायद में सरकार, गृह राज्यमंत्री ने कहा, सर्वे कराया जा रहा है   

Bengaluru : केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी ने सोमवार को बंगलुरू में कहा कि सरकार कश्मीर घाटी में बंद पड़े मंदिरों का सर्वे करा रही है.  कहा कि पिछले कुछ सालों में लगभग 50 हजार मंदिर बंद हुए हैं, जिनमें से कुछ नष्ट हो गये थे और मूर्तियां टूटी हुई हैं.  जी किशन रेड्डी ने कहा कि हमने ऐसे मंदिरों के सर्वे का आदेश दिया है.

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाये जाने के बाद केंद्र सरकार ने  जम्मू-कश्मीर को दो केंद्रशासित प्रदेशों के तौर पर पुनर्गठन कर दिया है. इसी क्रम में केंद्र सरकार घाटी में  सालों से बंद पड़े मंदिरों  सहित स्कूलों को खोलने की कवायद में है. केंद्रीय गृह राज्यमंत्री ने कहा कि मंदिरों के अलावा  हमने कश्मीर घाटी में बंद पड़े स्कूलों के सर्वे के लिए एक कमिटी का गठन किया है और उन्हें दोबारा खोला जायेगा.

जान लें कि कि 90 के दशक में जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद का दौर शुरू होने के बाद घाटी से लाखों की संख्या में कश्मीरी पंडितों को पलायन के लिए विवश होना पड़ा था, आतंकियों ने बड़े पैमाने पर कश्मीरी पंडितों का नरसंहार किया था और तमाम मंदिरों को भी नुकसान पहुंचाया था.

advt

इसे भी पढ़ेंः #HowdyModi : पीएम मोदी के अबकी बार ट्रंप सरकार…नारे पर कांग्रेस बिफरी, कहा, यह  विदेश नीति का उल्लंघन

पंडितों के पलायन के बाद घाटी में कई मंदिर बंद हो गये

पंडितों के पलायन के बाद घाटी में कई मंदिर बंद हो गये.  इनमें कई मशहूर मंदिर भी हैं.  शोपिया में भगवान विष्णु का मंदिर है तो इसी तरह पहलगाम में भगवान शिव का प्राचीन मंदिर है जो अभी बंद हैं.   केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद तमाम तरह की घोषणाएं कर चुकी है.

adv

सरकार ने इससे पहले वहां के युवाओं को रोजगार देने के लिए 50 हजार सरकारी भर्तियों को जल्द निकालने का ऐलान किया था.  इसके साथ ही घोषणा की थी कि वहां पर जल्द ही रोजगार के अन्य साधन उपलब्ध कराये जायेंगे. सात दिवसीय यात्रा पर अमेरिका पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कश्मीरी पंडितों से मुलाकात की थी.

मुलाकात के दौरान कश्मीरी पंडितों के प्रतिनिधिमंडल ने केंद्र सरकार द्वारा कश्मीर से अनुच्छेद 370 समाप्त करने के लिए पीएम मोदी का आभार जताया था और इसके लिए उन्हें उनका धन्यवाद भी किया था. प्रतिनिधित्व मंडल की अगुवाई करने वाले सुरिंदर कौल नाम के शख्स पीएम मोदी को बधाई देते हुए भावुक हो गये  और उन्होंने पीएम मोदी का हाथ चूमकर धन्यवाद किया.

कौल ने कहा, प्रधानमंत्री जी, आपको सात लाख कश्मीरी पंडितों की तरफ से धन्यवाद.  कश्मीरी पंडितों को प्रतिनिधिमंडल में शामिल लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा था कि आपने बहुत ही साहस का काम किया है.  इसके बाद पीएम मोदी ने भी कहा था कि आप लोगों ने भी बहुत कष्ट झेले है.

इसे भी पढ़ेंः कठुआ में बड़ी आतंकी साजिश नाकाम, सेना के सर्च अभियान में 40 किलो #RDX बरामद

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button