National

जम्मू-कश्मीर : आसिया अंद्राबी ने एनआईए के सामने कबूला, विदेशों से फंड लेकर घाटी में करवाया जाता था प्रदर्शन

विज्ञापन

NewDelhi : जम्मू-कश्मीर की अलगाववादी नेता आसिया अंद्राबी ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के सामने पूछताछ में खुलासा किया है कि वह विदेशी स्रोतों से फंड लेकर घाटी में सेना और सरकार के खिलाफ महिलाओं से प्रदर्शन करवाती थी.  समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार जांच के दौरान आसिया अंद्राबी ने कबूल किया कि वह विदेशी स्रोतों से दान और फंड ले रही थी. इसके एवज में उसकी संस्था दुखतारन-ए-मिल्लत घाटी में मुस्लिम महिलाओं से प्रदर्शन करवाती थी.

इसे भी पढ़ेंः राज्यसभा :  चुनाव आयोग की अधिसूचना से कांग्रेस परेशान,  गुजरात में बिगड़ जायेगा गेम, SC जा सकती है कांग्रेस

मसरत आलम घाटी में पत्थरबाजों और हिंसक आंदोलनों का पोस्टर बॉय था

एनआईए के अनुसार आसिया अंद्राबी ने माना है कि वह विदेशों  से  धन जुटा रही थी और उसका संगठन दुखतारन-ए-मिल्लत घाटी में मुस्लिम महिलाओं के प्रदर्शन का आयोजन कर रहा था. एनआईए ने कहा, अंद्राबी का मलेशिया में उसके बेटे के 2011 के बाद शैक्षिक खर्चों के लिए फंड विदेशी प्रेषण के जरिए जहूर (अहमद शाह) वटाली द्वारा किये जाने से सामना कराया गया.

एनआईए के अनुसार वटाली  हवाला के मुख्य वाहकों में से एक  है, जो पाकिस्तान से फंड जुटाता है और प्राप्त करता है. एनआईए ने अपने बयान में मुस्लिम लीग के नेता मसरत आलम का हवाला दिया, जिसने एनआईए अधिकारियों से कहा कि पाकिस्तान समर्थित एजेंट ने विदेश से धन एकत्र किया और हवाला ऑपरेटर्स के जरिए जम्मू-कश्मीर भेजा. मसरत आलम घाटी में पत्थरबाजों और हिंसक आंदोलनों का तथाकथित पोस्टर बॉय था.

advt
इसे भी पढ़ेंः छत्तीसगढ़ पुलिस ने बिस्किट कारखाने से 26 बाल मजदूरों को मुक्त कराया , झारखंड के बच्चे भी शामिल  

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close