न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

एस. जयशंकर ने ईरानी विदेश मंत्री जवाद जरीफ से की मुलाकात, कई पहलुओं पर हुई बातचीत

504

New Delhi: विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने ईरान के अपने समकक्ष जवाद जरीफ से मुलाकात की. इस मुलाकात के दौरान दोनों ने ईरान और अमेरिका के बीच तनाव के बाद खाड़ी क्षेत्र में तेजी से बदल रहे हालात पर गुरुवार को चर्चा की.

इराक में अमेरिकी ड्रोन हमले में ईरान के अल-कुद्स बल के प्रमुख जनरल कासिम सुलेमानी की मौत के बाद अमेरिका और ईरान के बीच तनाव बहुत अधिक बढ़ गया है.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसे भी पढ़ें- #RautExposedIndiraGandhi: राउत का दावा- गैंगस्टर करीम लाला से मिली थीं इंदिरा गांधी

कई पहलुओं पर हुई बातचीत

जलपान पर मुलाकात के दौरान जरीफ ने जयशंकर को वर्तमान हालात में तेहरान के रुख और समग्र स्थिति के बारे में जानकारी दी. ऐसी जानकारी मिली है कि दोनों मंत्रियों के बीच भारत और ईरान के द्विपक्षीय संबंधों के कई पहलुओं और चाबहार बंदरगाह परियोजना में प्रगति पर बातचीत हुई.

गौरतलब है कि ईरान के विदेश मंत्री मंगलवार को तीन दिवसीय यात्रा पर ऐसे समय में भारत आये हैं जब पूरी दुनिया की निगाहें ईरान और अमेरिका पर हैं. जरीफ ने बुधवार को कहा कि खाड़ी क्षेत्र में तनाव कम करने में भारत भूमिका निभा सकता है क्योंकि वह एक महत्वपूर्ण पक्ष है.

रायसीना डायलॉग को संबोधित करते हुए जरीफ ने अमेरिका के ट्रंप प्रशासन को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि कासिम सुलेमानी की हत्या की घटना अज्ञानता और अहंकार दिखाती है. उन्होंने कहा कि यह हमला ‘‘माफी के काबिल नहीं है.

इसे भी पढ़ें- #Sensex ने पहली बार छुआ 42 हजार का आंकड़ा, यूएस-चीन के बीच ट्रेड डील से बाजार में उछाल

ईरान-अमेरिका के बीच जल्द घटे तनाव: भारत

भारत यह कहता रहा है कि वह चाहेगा कि जल्द से जल्द तनाव घटे. भारत के अनुसार, क्षेत्र में अपने महत्वपूर्ण हितों के मद्देनजर वह ईरान, संयुक्त अरब अमीरात, ओमान और कतर सहित प्रमुख देशों से संपर्क बनाये हुए है.

सुलेमानी ईरान के अल-कुद्स बल के प्रमुख थे और तीन जनवरी को बगदाद अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के पास काफिले पर हुए अमेरिकी ड्रोन हमले में मारे गये थे.

पिछले सप्ताह ईरान ने इराक में दर्जनों मिसाइलें कम से कम उन दो ठिकानों को लक्ष्य कर दागीं जहां अमेरिकी सेना और गठबंधन बल हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like