JharkhandRanchi

15 अगस्त को लगेगी जेल अदालत, 19 कैदियों की हो सकती है रिहाई

Vineet Upadhyay

Ranchi : स्वतंत्रता दिवस पर बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार में बंद लगभग 19 कैदियों के लिए आजादी की सुबह साबित हो सकती है.स्वतंत्रता दिवस के मौके पर रांची बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार में 15 अगस्त को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जेल अदालत लगायी जायेगी. जिसके लिए रांची जिला विधिक सेवा प्राधिकार के द्वारा 19 मामलों को चिन्हित कर सूचीबद्ध कर लिया गया है.

इसे भी पढ़ें –अपराधियों के खिलाफ झारखंड पुलिस की कार्रवाई जारी, जड़ से खत्म करने का लें संकल्प: DGP

MDLM
Sanjeevani

7 बेंचो का गठन किया गया है

रांची जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव अभिषेक कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि रांची के बिरसा मुंडा सेंट्रल जेल में जेल अदालत आयोजित की जायेगी. जिसके लिए 7 बेंचो का गठन किया गया है. वहीं रेलवे से जुड़े मामलों की सुनवाई और उन मुकदमों के निष्पादन के लिए रेलवे मैजिस्ट्रेट के कोर्ट का भी गठन जेल अदालत के लिए किया जा चुका है.

जिन मुकदमों की सुनवाई जेल अदालत के लिए सूचीबद्ध की गयी है. उनमें से ज्यादातर मामलों के आरोपी छोटी-मोटी चोरी एवं अन्य छोटे अपराध करने के अभियुक्त हैं. कोर्ट अगर मुकदमे से जुड़े सभी पहलुओं को देखने और कैदियों के आचरण को ध्यान में रखते हुए, उचित समझेगा तो कैदियों को 15 अगस्त के मौके पर सभी प्रक्रिया पूरी करने के बाद रिहा कर सकता है.

बता दें कि जेल अदालत के दौरान छोटे-मोटे सुलह योग्य मामलों में कई महीनों से बंद विचाराधीन कैदियों को अपराध स्वीकार किये जाने के बाद अन्य परिस्थितियों को देखते हुए छोड़े जाने पर  सहमति बनती है. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अपने जुर्म के लिए जेल की चारदीवारी में कैद रहने के बाद अपना दोष स्वीकार करने वाले कैदियों को  रिहा करने की प्रक्रिया शुरू की जाती है. जेल अदालत के दौरान जिन  कैदियों को रिहा किया जाता है, उनके आपराधिक पृष्ठभूमि का भी पूरा ध्यान  रखा जाता है.

इसे भी पढ़ें –Corona Effect-2: मेंटेनेंस से लेकर ब्यूटी उत्पादों की एक्सपायरी का लाॅस झेल रहे पार्लर

6 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button