न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मराठा आरक्षण आंदोलन को लेकर मुंबई में ‘जेल भरो’ प्रदर्शन

सीएम के खोखले वादों से उठा भरोसा : प्रदर्शनकारी

320

Mumbai : मराठा कार्यकर्ताओं ने नौकरियों और शिक्षा में तुरंत आरक्षण लागू करने की मांग को लेकर बुधवार को ‘जेल भरो’ प्रदर्शन किया. मराठा क्रांति मोर्चा के नेतृत्व में आरक्षण समर्थक समूहों ने दक्षिण मुंबई के आजाद मैदान में ‘जेल भरो’ प्रदर्शन आयोजित किया जबकि राज्य के कुछ हिस्सों में स्थानीय समूहों ने भी ऐसे ही विरोध प्रदर्शन किए. एक अधिकारी ने यहां बताया कि मराठा समुदाय के प्रदर्शन से शहर में रेल और सड़क यातायात प्रभावित नहीं हुआ है.

इसे भी पढ़ें- हजारीबाग : घाघरा डैम को लेकर विधायक की बेटी और भाई आपस में भिड़े

सीएम के खोखले वादों से उठा भरोसा : प्रदर्शनकारी

पुलिस ने बताया कि प्रदर्शनों के मद्देनजर राज्य में सुरक्षा के पर्याप्त बंदोबस्त किए गए हैं. आजाद मैदान में एक प्रदर्शनकारी केदार शिंदे ने कहा कि हमारे मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और मराठा समुदाय को आरक्षण देने के उनके खोखले वादों से भरोसा उठ गया है. मराठा समुदाय के एक समूह ने लातूर जिले में राज्य के श्रम मंत्री संभाजी पाटिल-नीलांगेकर के आवास के बाहर भी प्रदर्शन किया. पुलिस ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने उत्तर सोलापुर में पुणे-सोलापुर राष्ट्रीय राजमार्ग के एक हिस्से को अवरुद्ध कर दिया. पुणे जिले के जुन्नार में भी प्रदर्शन किए गए और शिरुर तथा खेद तहसीलों में रैलियां निकाली गईं.

इसे भी पढ़ें- अर्जुन मुंडा का यह ट्वीट कहीं सत्ता पर काबिज हुक्मरानों के लिए कुछ इशारा तो नहीं

आंदोलन के दौरान अबतक छह लोगों ने की आत्महत्या

आक्रामक प्रदर्शनकारियों के गढ़ मराठावाड़ा क्षेत्र में हिंगोली जिले के किसानों ने समुदाय के लिए आरक्षण की मांग को लेकर बैलगाड़ी मार्च आयोजित किया. महाराष्ट्र की 12 करोड़ आबादी का 30 फीसदी हिस्सा मराठा समुदाय का है. राज्य में पिछले दिस दिन से चल रहे विरोध प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया है. उनकी मांगों में नौकरियों और शिक्षा में 50 फीसदी आरक्षण, कोपर्डी बलात्कार मामले के आरोपियों को मौत की सजा और एसएसटी कानून के गलत इस्तेमाल को रोकने के लिए उसमें संशोधन करना शामिल है. आरक्षण की मांग को लेकर चल रहे आंदोलन के दौरान राज्य में अभी तक छह लोगों ने आत्महत्या की है.

इसे भी पढ़ें- स्टेन स्वामी ने सरकार और जनता के नाम लिखी खुली चिट्ठी- क्या मैं देशद्रोही हूं ?

इसे भी पढ़ें- कॉरपोरेट घरानों का भारतीय राजनीति में बढ़ता प्रभाव

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: