न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राज्‍यभर में पारा शिक्षकों का जेल भरो आंदोलन, समर्थन में उतरे कई संगठन

414

NW Team

Ranchi: समान काम के लिए एक समान वेतन और स्‍थायीकरण की मांग को लेकर झारखंड के पारा शिक्षक लंबे अरसे से आंदोलन कर रहे हैं. झारखंड स्‍थापना दिवस के दौरान पारा शिक्षकों पर लाठी चार्ज और गिरफ्तारी के खिलाफ पुरजोर आक्रोश और विरोध दीख रहा है. तय रणनीति के तहत मंगलवार 20 नवंबर को पूरे राज्‍य के पारा शिक्षकों ने जेल भरो आंदोलन किया. इस आंदोलन का सभी प्रमुख विपक्षी पार्टियों और संगठनों ने खुलकर समर्थन किया है.

सरकार से आर-पार की लड़ाई के मूड में पारा शिक्षक

साहिबगंज: यहां पारा शिक्षकों का जेल भरो आंदोलन चरम पर देखने को मिला. आंदोलन करने वाले पारा शिक्षकों ने मंगलवार को हर थाने में अपनी गिरफ्तारी दी. इसके पहले पारा शिक्षकों ने यहां जुलुस प्रदर्शन भी किया और अपनी गिरफ्तारी दी. इसी तरह तालझाड़ी थाना, राजमहल थाना, राधानगर थाना, बरहरवा थाना, मुफ्सील थाना व बोरियों थाना में पारा शिक्षकों ने अपनी गिरफ्तारी दी. मौके पर नेतृत्व कर रहे जिला अध्यक्ष अशोक शाह ने कहा कि‍ सरकार के किसी भी फरमान का हम पर कोई असर नहीं पड़ेगा. कोई भी शिक्षक काम पर नहीं लौटेंगे. अगर घंटी आधारित शिक्षकों को सरकार नियुक्त करती है तो उनसे सख्ती से निपटा जायेगा.

समर्थन में उतरे आजसू विधायक राजकिशोर महतो

धनबादः यहां पारा शिक्षकों के आंदोलन का सरकार में शामिल आजसू ने भी खुलकर सामने आया है और सरकार के द्वारा पारा शिक्षकों पर की जा रही

पारा शिक्षकों के समर्थन में आजसू विधायक धरने पर बैठे

कार्रवाई का विरोध कर रहा है. पारा शिक्षकों के समर्थन में टुंडी के आजसू विधायक राज किशोर महतो ने धनबाद के रणधीर वर्मा चौक में धरना दिया. इस दौरान आजसू विधायक ने कहा कि आजसू पार्टी मानती है कि पारा शिक्षकों की मांगें जायज है. रघुवर सरकार ने उनकी मांगों पर गंभीरतापूर्ण विचार करने के बजाय उनके आंदोलन को कुचलने का प्रयास किया है. सरकार का निर्णय झारखंड के हित में नहीं है. रघुवर सरकार झारखंड हित में नहीं है. आजसू पार्टी इस सरकार में है. सरकार अगर गलत करेगी तो आजसू विरोध करेगी, पार्टी चुप बैठने वाली नहीं है.

गोमिया के 480 पारा शिक्षकों ने दी गिरफ्तारी

गोमिया: गोमिया प्रखंड एकीकृत पारा शिक्षक संघ के बैनर तले 480 पारा शिक्षकों ने अपनी गिरफ्तारी दी. आइइएल पुलिस के अवर निरीक्षक टीपी सिंह ने बताया कि सभी 480 पारा शिक्षकों को धारा 151 के तहत गिरफ्तार कर रिहा किया गया. पारा शिक्षक संघ गोमिया प्रखंड के अध्यक्ष सगीर अहमद सहित पंच देव महतो, मनोज सिंह आदि ने 15 नवंबर को रांची में गिरफ्तार पारा शिक्षकों को अविलंब बिना शर्त रिहाई की मांग की. पारा शिक्षकों ने इस दौरान उन्‍हें छत्तीसगढ़ सरकार की तर्ज पर मानदेय देने की अपनी मांग दुहरायी. पारा

silk_park
गोमिया में पारा शिक्षकों ने दी गिरफ्तारी

शिक्षकों ने कहा कि जब तक उनकी मांगों पर गंभीरता पूर्वक सरकार विचार नहीं करती है, गोमिया प्रखंड के पारा शिक्षक हड़ताल पर रहेंगे.

इधर पारा शिक्षकों के समर्थन में मुखिया संघ की अध्यक्ष रहमतून निशा, शांति देवी, ललिता देवी,  चंद्रदीप पासवान, धनंजय सिंह, ललिता देवी, गीता देवी, चमेली देवी, पूर्व मुखिया विनोद विश्वकर्मा, बंटी उरांव सहित विधायक प्रतिनिधि संतोष साव आदि ने भी उनका समर्थन किया.

गिरफ्तारी देने पहुंचे पारा शिक्षकों को नहीं किया गिरफ्तार

बेरमो: यहां के प्रखंड कार्यालय में पारा शिक्षकों का झुंड अपनी गिरफ्तारी देने के लिए पहुंचा. लेकिन बेरमो सीओ एमएन मंसूरी के द्वारा पारा शिक्षकों को गिरफ्तार नहीं

 

 किया गया. साथ ही उनसे मांग पत्र लेकर मांगों पर विचार करने का आश्वासन दिया गया.

इस दौरान पारा शिक्षकों के आंदोलन के समर्थन में  कांग्रेस, जेएमएम, सीपीआई, माले, सीपीएम, आजसू जैसी पार्टियों के स्थानीय नेता भी पहुंचे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: