न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भौंरा का जहाज टांड़ सुविधाओं से वंचित, 5000 हजार की आबादी वाला है इलाका

दस साल पहले नगर निगम क्षेत्र में आ चुका है जहाज टांड़

112

Dhanbad: धनबाद के झरिया का एक इलाका विकास से आज भी अछूता है. भौरा थाना क्षेत्र के जहाज टांड़ को नगर निगम के वार्ड नंबर 49 में शामिल हुए लगभग 10 साल होने को है. लेकिन इस जहाज टांड़ के लोग नगर निगम के द्वारा दी जा रही सारी सुविधा से वंचित है.

इसे भी पढ़ें – IAS अफसरों का बड़ा तबका महसूस कर रहा असहज, ऑफिसर ने बर्खास्त होना समझा मुनासिब, लेकिन वापसी मंजूर…

 

यहां रह रहें लोगों की मानें तो ये क्षेत्र मेन रोड से महज 4 किलोमीटर अंदर है. इस क्षेत्र में आने-जाने के लिए जो मुख्य मार्ग है वह भी काफी जर्जर है. बरसात के दिनों में यहां के लोग जान हथेली पर लेकर आते-जाते हैं. इस क्षेत्र के लोगों के पास कोई दूसरा वैकल्पिक रास्ता नहीं है. साथ ही जब से इस क्षेत्र को नगर निगम के दायरे में रखा गया है, तब से इस क्षेत्र में विकास कार्य पूरी तरह ठप हो गया है. कारण यह है कि अब टीएसआरडीएस भी इस क्षेत्र मे विकास का काम नहीं करेगी. क्योंकि टीएसआरडीएस ग्रामीण क्षेत्रों में ही विकास का काम करती है, लेकिन अब उसने भी विकास का काम इस क्षेत्र में बंद कर दिया है.

 

इसे भी पढ़ेंःप्रणव नमन कंपनी ने अच्छी क्वालिटी के कोयले में मिलाने के लिए कटकमसांडी रेलवे कोल साइडिंग में जमा कर रखा है हजारों टन चारकोल (देखें व पढ़ें ग्राउंड रिपोर्ट)

जब से जहाज टांड़ को नगर निगम में शामिल किया है. तब से यहां के लोगों के पास ना तो पानी की सुविधा है, ना बिजली की सुविधा है और ना ही नाली की. यहां के लोग पूरी तरह से नगर निगम द्वारा दी जा रही सारी सुविधाओं से वंचित है. अभी जहाज टांड़ में जो भी सुविधा दी गई है, वो पहले ही टाटा के टीएसआरडीएस के द्वारा दी गई हैं. और सबसे चौंकाने वाली बात यह कि यहां के लोग अभी भी शौच के लिए बाहर ही जाते हैं. और खाना लकड़ी पर ही बनाते हैं, क्योंकि यहां के पार्षद भी इस जहाज टांड़ क्षेत्र में ध्यान नहीं देते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: