BusinessLead NewsNational

IT  की नई वेबसाइट  लांच, जानिये क्यों 18 जून के पहले इससे नहीं हो पायेगा टैक्स पैमेंट

ऑनलाइन काम करने के लिए टैक्सपेयर्स को मोबाइल एप की सुविधा भी मिलेगी

New Delhi :  आयकर विभाग की नई वेबसाइट www.incometax.gov.in की शुरुआत आज यानी 7 जून 2021 से भले ही शुरू हो गया है, लेकिन देश के लाखों टैक्सपेयर्स 18 जून के पहले इस नए आईटीआर ई-फाइलिंग पोर्टल के जरिए टैक्स का भुगतान नहीं कर पाएंगे. इसके पहले टैक्सपेयर्स इस वेबसाइट incometaxindiaefiling.gov.in टैक्स से जुड़े अपने कार्यों को कर रहे थे लेकिन नई वेबसाइट आने के बाद सारे काम www.incometax.gov.in पर होंगे. इसके अलावा, टैक्सपेयर्स को ऑनलाइन काम करने के लिए मोबाइल एप की सुविधा भी मिलेगी.

इसे भी पढ़ें : बिहार लोक सेवा आयोग की परीक्षा में गिरिडीह के शशांक बरनवाल को पांचवां स्थान

advt

ये है कारण

इसके पीछे कारण यह बताया जा रहा है कि आयकर विभाग के इस नए पोर्टल के टैक्स पेमेंट सिस्ट की शुरुआत एडवांस टैक्स की किस्त जमा करने की तारीख के बाद की जाएगी. इसके साथ ही, विभाग की ओर से टैक्सपेयर्स के लिए पहली बार दी जा रही मोबाइल एप की सुविधा भी 18 जून से ही शुरू किया जाएगा.

इस एप के शुरू हो जाने के बाद टैक्सपेयर्स को आईटीआर फॉर्म भरने और इससे जुड़े कामकाज को ऑनलाइन पूरा करने में आसानी होगी.

इसे भी पढ़ें : सभी देशवासियों को मुफ्त टीका लगवायेगी केंद्र सरकार

नए पोर्टल पर ये खास सुविधाएं मिलेंगी

तुरंत होगा रिफंड जारी :  नए पोर्टल पर आयकर रिटर्न (आईटीआर) के तत्काल प्रोसेसिंग की सुविधा उपलब्ध है, ताकि टैक्सपेयर्स को जल्द से जल्द रिफंड जारी किया जा सके.

एक ही पेज पर मिलेंगी भी चीजें : सभी लेन-देन और अपलोड्स या पेंडिंग काम एक ही डैशबोर्ड पर दिखाई देंगे. इससे टैक्सपेयर्स को सभी चीजें एक ही पेज पर मिल जाएंगी. इससे उन्हें आगे की कार्रवाई करने में आसानी होगी.

फ्री में मिलेगा आईटीआर सॉफ्टवेयर : आयकरदाताओं को फ्री में आईटीआर सॉफ्टवेयर मिलेगा. इसमें हमेशा पूछे जाने वाले सवालों के जवाब मिलेंगे. इससे टैक्सपेयर्स को अपना आईटीआर खुद ही भरने में आसानी होगी. टैक्सपेयर्स को अपना आईटीआर1, 4 (ऑनलाइन और ऑफलाइन) और आईटीआर 2 (ऑफलाइन) के लिए मदद मिलेगी. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के मुताबिक आईटीआर 3, 5, 6, 7 तैयार करने की सुविधा शीघ्र ही उपलब्ध कराई जाएगी.

प्रोफाइल अपडेट करने में होगी आसानी :  टैक्सपेयर्स को अपने वेतन, हाउस प्रॉपर्टी, बिजनेस/प्रोफेशन समेत आमदनी के कुछ विशेष डिटेल्स देने के लिए अपने प्रोफाइल को सक्रिय रूप से अपडेट करने में सक्षम होंगे, जिसका उपयोग उनके आईटीआर को पहले से ही भरने में किया जाएगा.

शुरू होगा कॉल सेंटर : टैक्सपेयर्स के किसी भी प्रकार के सवालों के जवाब देने के लिए एक नए कॉलसेंटर की शुरुआत की जाएगी.

लाइव एजेंट की मिलेगी सुविधा : विस्तृत एफएक्‍यू (अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न), यूजर्स के लिए नियमावली, वीडियो और चैटबॉट/लाइव एजेंट भी उपलब्ध होंगे.

नोटिस का जवाब देने में होगी सुविधा : आयकर फॉर्म भरने, टैक्स प्रोफेशनल्स को जोड़ने, फेसलेस स्क्रूटनी या अपील में नोटिस के जवाब प्रस्‍तुत करने की सुविधाएं उपलब्ध होंगी.

टीडीएस दाखिल करने की डेडलाइन 30 जून तक : टीडीएस और एसएफटी विवरण के अपलोड होने के बाद वेतन आय, ब्याज, लाभांश और पूंजीगत लाभ को पहले से ही भरने की विस्तृत क्षमता उपलब्ध होगी, जिसकी अंतिम तिथि 30 जून, 2021 है.

इसे भी पढ़ें : JPSC : ऐसी कोई परीक्षा नहीं जिसमें न हुआ हो कोई विवाद

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: