Education & Career

स्टार्टअप पॉलिसी को पटरी में लाने में लगेगा समय, IIM अहमदाबाद को फिर से वापस लाने की है तैयारी

पिछले साल दिसंबर से स्टार्टअप के तहत काम बंद है

Ranchi: राज्य में स्टार्टअप के तहत काम लगभग ठप है. 26 दिसंबर 2019 को IIM अहमदाबाद के साथ राज्य सरकार का एकरार खत्म हो चुका है. लेकिन एकबार फिर से IIM अहमदाबाद को लाने की तैयारी हो रही है.

आइटी विभाग की ओर से प्रयास शुरू कर दिये गये हैं. फरवरी में विभाग और आइआइएम अहमदाबाद के प्रतिनिधियों के बीच पहले दौर की बैठक हो चुकी है.

हालांकि अभी इस पर सहमति नहीं बन पायी है. आइआइएम अहमदाबाद के सूत्रों से जानकारी मिली है कि विभाग की ओर से अब तक इसकी हरी झंडी नहीं मिली है.

इसे भी पढ़ें :CORONA UPDATES IN RANCHI: रांची में छह माह बाद 24 घंटे में 300 से अधिक संक्रमित मिले

स्टार्टअप की मेंटर थी आइआइएम अहमदाबाद

राज्य में 2016 में स्टार्टअप पॉलिसी लागू की गयी. जिसके लिये मेंटर आइआइएम अहमदाबाद को बनाया गया. इसके कार्यस्थल के रूप में अटल बिहारी इन्नोवेशन लैब स्थापित किया गया.

लेकिन आइआइएम अहमदाबार से एकरार खत्म होने के साथ ही इस पर काम भी बंद है. हलांकि विभाग की ओर से पिछले कुछ महीनेां से स्टार्ट अप उद्यमियों का रजिस्ट्रेशन कराया जा रहा है. आईटी विभाग के अंतर्गत स्टार्ट अप पर काम कर रही थी.

इसे भी पढ़ें :PNB ने ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया के ग्राहकों को दी राहत

तीन साल का था एग्रीमेंट

आईआईएम अहमदाबाद से तीन साल के लिये एग्रीमेंट किया गया था. जो साल 2016 से साल 2019 के लिये है. एकरार खत्म होने के पहले, सिंतबर 2019 में ही पूर्व सरकार की ओर से 17 उद्यमियों को सीड फंड उपलब्ध कराया गया.

जो पांच से लेकर 12 लाख रूपये की रहीं. वहीं कुछ उद्यमियों को साइटपेंड के रूप में मिलने वाली आठ से दस हजार रूपये भी उपलब्ध करायी गयी. फिलहाल पांच सौ अधिक आवेदन लैब के पास है.

इसे भी पढ़ें :Bengal Election : नंदीग्राम में भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी के काफिले पर हमला, 1 बजे तक 38 % वोटिंग

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: