न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मजदूरों के हित की सुध न लेकर झामुमो पर आरोप लगाना गलत : अमित महतो

258

Ranchi : झामुमो नेताओं ने रांची के एक स्थानीय खबर पर शब्दों और सवालों से हमला बोल दिया है. उक्त अखबार में खबर छपी थी कि झामुमो कार्यकर्ता टाटीसिल्वे में लगे उद्योगों को बंद कराने की साजिश कर रहे हैं. इस पर सिल्ली के पूर्व विधायक व झामुमो नेता अमित महतो ने कहा है कि टाटीसिल्वे स्थित छोटानागपुर रोप वर्क्स प्राइवेट लिमिटेड की कार्यप्रणाली के विरुद्ध करीब 450 मजदूर एक माह से हड़ताल पर बैठे हैं, उसकी सुध तो अभी तक उस स्थानीय अखबार ने नहीं ली है. वहीं, उसी कंपनी को बचाने के लिए स्थानीय अखबार से जुड़े औद्योगिक घराने ने अपने अखबार के माध्यम से झामुमो पर गलत आरोप लगाने का काम किया है. इससे संबंधित एक खबर भी उस स्थानीय अखबार में छापी गयी है. उन्होंने कहा कि पार्टी उससे डरनेवाली नहीं है. राज्य में जब भी मजदूरों के शोषण की बात सामने आयेगी, झामुमो पुरजोर तरीके से ऐसे मुद्दों को उठायेगी.

इसे भी पढ़ें- ऐसा लगता है, जैसे झारखंड सरकार के विभागों ने अनियमितताएं करने की कसम खा ली है : मंत्री सरयू राय

मजदूरों को  दी जा रही हत्या कर देने की धमकी

पार्टी मुख्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए पूर्व विधायक अमित महतो ने कहा कि छोटानागपुर रोप वर्क्स प्राइवेट लिमिटेड के रवैये के कारण करीब 450 मजदूर पिछले एक महीने से हड़ताल पर हैं. मजदूरों की समस्या के निदान के लिए कंपनी ने अभी तक कोई पहल नहीं की है. दूसरी ओर सभी मजदूर काम पर जाना भी जाते हैं, लेकिन कंपनी के अधिकारियों के भय के कारण वे काम पर नहीं जा पा रहे हैं. यहां तक कि कंपनी से जुड़े आपराधिक तत्व हड़ताल पर बैठे मजदूरों को काम पर वापस नहीं लौटने पर उनकी हत्या करने तक की धमकी दे रहे हैं. ऐसा कर कंपनी अपनी मनमानी की चरम सीमा को लांघ चुकी है. हड़ताल खत्म कराने के लिए उपायुक्त और एसडीओ स्तर के अधिकारी भी कई बार पहल कर चुके हैं, लेकिन कंपनी इन अधिकारियों की बात को दरकिनार कर प्रशासन को नजरअंदाज कर रही है.

इसे भी पढ़ें- जामताड़ा एसपी जया राय पर एक और मुकदमा, पिंकी के बाद राजकुमारी ने दर्ज कराया शिकायतवाद

मनगढ़ंत आरोप लगा रहा अखबार :  अमित महतो

अमित महतो ने कहा कि स्थानीय अखबार ने जिस तरह से झामुमो पर टाटीसिल्वे स्थित उद्योगों को बंद कराने का आरोप लगाया है, वह पूरी तरह से मनगढ़ंत है. 450 मजदूर अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर बैठे हुए हैं. उनकी सुध तो उस स्थानीय अखबार ने अभी तक नहीं ली. इसके बदले उसने छापा है ‘ टाटीसिल्वे में उद्योगों को बंद कराने की साजिश, उत्पादन ठप कराने का किया जा रहा है प्रया’. उन्होंने कहा कि बात यहां एक उद्योग की हो रही है, जबकि स्थानीय अखबार छाप रहा है ‘उद्योगों’ को बंद कराने की साजिश. पूर्व विधायक ने कहा कि सभी लोग जानते हैं कि उस अखबार का संबंध एक औद्योगिक घराने से है. छोटानागपुर रोप वर्क्स प्राइवेट लिमिटेड का संबंध भी उसी औद्योगिक घराने से हैं. ऐसे में संबंधित अखबार अब ऐसे औद्योगिक घराने का सहारा बन रहा है.

इसे भी पढ़ें- सीवरेज-ड्रेनेज परियोजना : ‘सजा’ पाकर भी नहीं सुधरी कंपनी, विभाग से पैसे तो ले रही, पर पूरा नहीं कर…

मजदूरों के हक के लिए हमेशा लड़ेगा झामुमो

अमित महतो ने कहा कि झामुमो शुरू से ही मजदूरों, किसानों के हितों पर जोर देती रही है. जब भी राज्य के मजदूरों के हितों की बात होगी, झामुमो उनके हितों के लिए संघर्ष करेगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
झारखंड की बदहाली के जिम्मेदार कौन ? भाजपा, झामुमो या कांग्रेस ? अपने विचार लिखें —
झारखंड पांच साल से भाजपा की सरकार है. रघुवर दास मुख्यमंत्री हैं. वह हर रोज चुनावी सभा में लोगों से कह रहें हैं: झामुमो-कांग्रेस बताये, राज्य का विकास क्यों नहीं हुआ ?
झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन कह रहें हैं: 19 साल में 16 साल भाजपा सत्ता में रही. फिर भी राज्य का विकास क्यों नहीं हुआ ?
लिखने के लिये क्लिक करें.

you're currently offline

%d bloggers like this: