JharkhandRanchi

राज्य की विद्युत वितरण व्यवस्था प्रोफेशनल्स के हाथों में देना जरूरी : चैंबर

Ranchi : झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स की कार्यकारिणी समिति की बैठक सोमवार को संपन्न हुई. बैठक की जानकारी देते हुए चैंबर अध्यक्ष किशोर मंत्री ने सभी नागरिकों से नियमितीकरण योजना के प्रारूप का अध्ययन कर, अपने सुझाव से सरकार को अवगत कराने की अपील की और यह भी कहा कि चैंबर द्वारा भी विभिन्न व्यापारिक व औद्योगिक संगठनों के साथ 7 दिसंबर को एक वृहद् बैठक का आयोजन किया जायेगा. जहां जनता से सुझाव लेकर, सभी सुझावों से सरकार को अवगत कराया जायेगा. ताकि राज्य में एक जनप्रिय नीति बन सके और अधिकाधिक लोग इस नीति से लाभान्वित हो सकें.

पावर कट पर जतायी चिंता

राज्य में जारी पावरकट पर चिंता जताते हुए सदस्यों ने कहा कि किसी भी प्रदेश की आर्थिक उन्नति के लिए क़्वालिटी एवं क्वांटिटी विद्युत आपूर्ति की पर्याप्त उपलब्धता अनिवार्य है. लेकिन पिछले एक दशक से राज्य के विभिन्न व्यापारिक व औद्योगिक संगठनों के अनेक प्रयास के बावजूद झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड द्वारा दी जा रही व्यवस्था में कोई गुणात्मक परिवर्तन नहीं हो सका है. उद्यमी प्रत्येक वर्ष इसी प्रकार विद्युत संकट का सामना करते रहेंगे, तब सरकार के लिए विकास के उद्देश्यों को प्राप्त करना मुश्किल हो जायेगा. प्रदेश में औद्योगिक विकास, रोजगार सृजन और समग्र आर्थिक विकास के लिए जरूरी है कि राज्य की विद्युत व्यवस्था के अन्य विकल्पों पर शीघ्र पहल की जाये. व्यापारियों ने एकमत से राज्य की विद्युत वितरण व्यवस्था को प्रोफेशनल्स के हाथों में सौंपने की मांग की. जिसपर अध्यक्ष किशोर मंत्री ने ऊर्जा सचिव के साथ वार्ता की बात कही. उन्होंने यह भी कहा कि राज्य के सभी जिलों में फेडरेशन द्वारा संगठन विस्तार पर जोर दिया जा रहा है. इसी अनुरूप प्रत्येक माह विभिन्न जिलों का दौरा कर, स्थानीय समस्याओं के समाधान की पहल की जा रही है. बैठक में चैंबर उपाध्यक्ष अमित शर्मा, महासचिव डॉ. अभिषेक रामाधीन, सह सचिव रोहित पोद्दार, शैलेश अग्रवाल, क्षेत्रीय उपाध्यक्ष संजय कुमार समेत अन्य मौजूद रहे.

इसे भी पढ़ें – ऊर्जा विभाग की समीक्षा बैठक : 2023 तक राज्य के 200 गांवों को सोलराइज करने का लक्ष्य तय

Related Articles

Back to top button