JharkhandRanchi

किसान आंदोलन में यूथ कांग्रेस की भूमिका तय करनी जरूरी : कुमार गौरव

झारखंड प्रदेश यूथ कांग्रेस की मासिक बैठक में किसान आंदोलन व ट्रैक्टर रैली पर हुई चर्चा

Ranchi : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर पार्टी मुख्यालय में आयोजित कार्यकारिणी की बैठक में झाऱखंड प्रदेश यूथ कांग्रेस ने किसान आंदोलन को अपना पूरा समर्थन दिया है.

बैठक की अध्यक्षता कर रहे प्रदेश अध्य़क्ष कुमार गौरव ने कहा है कि भले ही यह यूथ कांग्रेस की मासिक बैठक है, लेकिन हमें यह भी तय करना है कि किसान आंदोलन जो लगातार बढ़ा होता जा रहा है, उसमें यूथ कार्यकर्ताओं की भूमिका कैसे बढ़े.

बैठक में यूथ कांग्रेस प्रभारी इमरान अली, प्रवक्ता उज्ज्वल कुमार तिवारी व सभी जिलों के अध्यक्ष उपस्थित थे. इस दौरान कुमार गौरव ने कहा है कि किसानों के हित में रविवार को संथाल की धरती पर पार्टी ने जो ट्रैक्टर रैली बुलायी है, उसमें यूथ कांग्रेस बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेगी.

इसे भी पढ़ें- रांची से नयी दिल्ली और पुणे के लिए स्पेशल ट्रेनें 5 फरवरी से

advt

मोदी सरकार में स्टूडेंट कुछ कहें तो वह नक्सली, किसान कुछ कहें तो वह आतंकवादी: कुमार गौरव

कुमार गौरव ने कहा कि मोदी सरकार के लाये तीन काले कानून दिल्ली से नहीं देश की आर्थिक राजधानी मुंबई से बन कर आये हैं. तीनों कानून देश की आत्मा कहे जानेवाले किसानों पर थोपे गये हैं.

इससे किसानों को नहीं बल्कि देश के कुछ चुनिंदा उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने का काम किया जाना है. भाजपा शासन में आज यह ट्रेंड बन गया है कि किसी स्टूडेंट ने कोई भी बात कही, तो सरकार कह देगी कि वह तो नक्सली है.

किसी किसान ने अपनी बात कहनी चाही, तो कहेंगे कि वह तो आतंकवादी है. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार आरोप-प्रत्यारोप के सिवाय जनहित के कोई भी कार्य नहीं कर रही है.

मेहनती कार्यकर्ताओं को 20 सूत्री व निगरानी समितियों में जगह देने पर जोर

सत्तारूढ़ घटक दलों के बीच बीस सूत्री क्रियान्वयन समिति और निगरानी समिति में यूथ कांग्रेस टीम को जगह मिलने के सवाल पर प्रदेश प्रभारी इमरान अली ने अपनी बातें रखीं. उन्होंने कहा कि यूथ कांग्रेस संगठन के जो भी मेहनती कार्यकर्ता हैं, जिन्होंने अच्छा कार्य किया है, उसकी एक लिस्ट बनायी गयी है.

यह लिस्ट जल्द ही यूथ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव व विधायक दल के नेता आलमगीर आलम को भेजेंगे. हमारी कोशिश है कि यूथ कांग्रेस टीम को समिति में ज्यादा से ज्यादा जगह मिल सके.

इसे भी पढ़ें- इजरायली दूतावास हमले पर मोसाद की नजर, ब्लास्ट के पीछे ईरानी कनेक्शन?

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: