BusinessJharkhandRanchi

कंपनीज एक्ट 2013 के बाद निजी कंपनी खोलना हुआ आसान: दिवेश गोयल

  • आर्थिक गति के लिए निजी कंपनियों का लगना जरूरी, रोजगार सृजन के हैं अवसर
  • वेबिनार में कंपनीज एक्ट और इसके प्रावधानों की दी गयी जानकारी

Ranchi: कंपनीज एक्ट 2013 लागू होने के बाद निजी कंपनी खोलना आसाना हो गया है. जिससे उद्यमियों और उद्योगपतियों को आसानी हो रही है. साथ ही रोजगार सृजन भी हो रहा है. यह बातें कंपनीज एक्ट विशेषज्ञ सीए दिवेश गोयल ने कही. वे कंपनीज एक्ट पर आयोजित वेबिनार को संबोधित कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि एक्ट के आने से निजी कंपनी के लिए जो पहले की जटिलताएं थी, वो कम हुई. वहीं पिछले कुछ सालों से स्टार्ट अप और सिंगल विंडो जैसी पहल ने भी निजी कंपनियों और उद्यमियों को प्रोत्साहित किया है. एक्ट लागू होने के बाद, पांच जून 2015 से 13 जून 2017 के दौरान नोटिफिकेशन में बहुत से क्राइटेरिया में निजी कंपनियों को छूट दी गयी.

दिवेश गोयल ने कम्पनियों के वार्षिक अनुपालन की जानकारी दी जिसमें इससे संबधित फॉर्म और तारीख की जानकारी दी गयी. उन्होंने कहा कि निजी कम्पनियों के लोन के साथ कई जानकारियां देनी होती हैं जिसमें सालाना डीपीटी तीन जमा करना होता है. ऐसा नहीं करना कंपनीज एक्ट का उल्लंघन है. इसके लिए आर्थिक दंड का भी प्रावधान है.

इसे भी पढ़ें – राजद व कांग्रेस के गठबंधन में तीन वामपंथी दलों के साथ आने से बदल सकती है बिहार में चुनाव की तस्वीर

निजी कंपनियां रोजगार सृजन में देंगी योगदान

दिवेश ने कहा कि लॉकडाउन के बाद से निजी कंपनियों और उद्योगों में रोजगार सृजन के अवसर बनेंगे. आर्थिक मंदी से उभरने के लिए जरूरी है कि रोजगार सृजन किया जाये. कंपनीज एक्ट इसमें सहयोगी साबित होगी. जरूरी है कि लोगों को सही जानकारी हो और वे इसका लाभ उठा सकें.

वहीं दी इंस्टीट्यूट आफ चार्टर्ड अकांउटेंट्स, रांची शाखा की अध्यक्ष मनीषा बियानी ने कहा कि समय-समय पर ऐसे वेबिनार जरूरी है. लोगों में लगातार कारोबार के प्रति जागरूकता में कमी आ रही है. वर्तमान समय में जरूरी है कि ऐसे नियमों की जानकारी लोगों को हो ताकि इसका लाभ उन्हें मिल सके.

मौके पर सीपीइ कमेटी के अध्यक्ष पंकज मक्कड़, प्रभात कुमार, प्रवीण शर्मा, विनीत अग्रवाल, संदीप जालान, निशा अग्रवाल मौजूद रहे.

adv

इसे भी पढ़ें – गढ़वा: जवान के साथ मारपीट महंगी पड़ी- पुलिस इंस्पेक्टर और सब इंस्पेक्टर लाइन हाजिर, जांच शुरू

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button