World

नोबेल शांति पुरस्कार विजेता डब्ल्यूएफपी की चेतावनी को नजरअंदाज करना मुश्किल, अकाल मानवता की दहलीज पर खड़ा है

डब्ल्यूएफपी के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर डेविड बीजली ने नोबेल शांति पुरस्कार ग्रहण करते हुए कहा, अकाल को रोकने में विफल होने पर कई जानें जायेंगी

Rome : वर्ल्ड फूड प्रोग्राम (डब्ल्यूएफपी) के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर डेविड बीजली ने कहा कि इस धनी, आधुनिक, तकनीकी रूप से उन्नत दुनिया में यह कल्पना करना भी असंभव है कि हम उसी तरह के अकाल की ओर बढ़ रहे हैं, जैसा 400 ईस्वी में रोम शहर में पड़ा था. लेकिन आज मेरा कर्तव्य है कि मैं यह कहूं कि अकाल, मानवता की दहलीज पर आ पहुंचा है.

इसे भी पढ़ें : किसानों को मनाने की कोशिश, पीएम मोदी ने वीडियो जारी कर की अपील, दो मंत्रियों ने जो कहा, उसे जरूर सुनें…

वर्ल्ड फू़ड प्रोग्राम को गुरुवार को 2020 का नोबेल शांति पुरस्कार प्रदान किया गया

जान लें कि वर्ल्ड फू़ड प्रोग्राम को गुरुवार को साल 2020 का नोबेल शांति पुरस्कार प्रदान किया गया.  यह बातें डेविड बीज़ली ने नोबेल शांति पुरस्कार ग्रहण करते हुए कही.  इस क्रम में उन्होंने कहा, अकाल को रोकने में विफल होने पर कई जानें जायेंगी और बड़ी तबाही होगी. हमारा मानना है कि खाद्य सुरक्षा में ही शांति का मार्ग निहित है. ये नोबेल पुरस्कार सिर्फ़ धन्यवाद के लिए नहीं, बल्कि क़दम उठाने के लिए है.

advt

उन्होंने कहा, यह कल्पना करना असंभव है कि 400 ईस्वी में रोम शहर में भीषण अकाल की वजह से पूरी आबादी के 90 प्रतिशत लोग मारे गये थे. उसी समय रोमन एम्पायर के पतन की शुरुआत हुई. सवाल  है कि पतन की वजह से अकाल हुआ या अकाल की वजह से पतन हुआ? मेरे विचार में दोनों का जवाब है- हां.

इसे भी पढ़ें : अर्थशास्त्री रोबिनी ने कहा, वेतन कम होने से बढ़ रही कंपनियों की कमाई, यह खतरनाक है…

adv

नोबेल शांति पुरस्कार के लिए कार्यक्रम नार्वे की राजधानी ओस्लो में होता है

बता दें कि  डब्ल्यूएफपी को इस साल का नोबेल शांति पुरस्कार नार्वे की राजधानी में भव्य पारंपरिक कार्यक्रम से हटकर आयोजित कार्यक्रम में प्रदान किया गया, ऐसा कोरोना वायरस महामारी के चलते हुआ, ओस्लो में नार्वे नोबेल समिति के अध्यक्ष बेरिट रीस-एंडरसन ने वेबकास्ट बयान दिया, जिसके बाद संयुक्त राष्ट्र एजेंसी के प्रमुख रोम से अपना स्वीकृति संबोधन दिया.  विश्व खाद्य कार्यक्रम को भूख से लड़ने के उसके प्रयासों को लेकर यह पुरस्कार किया गया है.

इस साल छह श्रेणियों में 12 प्रतिष्ठान नोबेल पुरस्कार के लिए चुने गये. नोबेल शांति पुरस्कार को छोड़कर बाकी सभी नोबेल पुरस्कार पिछले दिनों यूरोप और अमेरिका में उन स्थानों पर सामान्य कार्यक्रमों में प्रदान दिये गये जहां विजेता रहते हैं. इस पुरस्कार के तहत 11 लाख अमेरिकी डॉलर, प्रशस्त पत्र और स्वर्ण पदक पदक प्रदान किये जाते हैं.   हर साल दस दिसंबर को पुस्कार संस्थापक अल्फ्रेड नोबेल की पुण्यतिथि पर स्टॉक होम में भव्य पुरस्कार समारोह होता है.  नोबेल शांति पुरस्कार के लिए यह कार्यक्रम नार्वे की राजधानी ओस्लो में होता है.

इसे भी पढ़ें : एमनेस्टी इंटरनेशनल का आरोप, भारत में बैंक खातों पर रोक लगी, तो कामकाज बंद करना पड़ा

 

 

Print

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: