न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों से मुठभेड़ में धनबाद का इसरार खान शहीद

1,113

Dhanbad : छत्तीसगढ़ में नक्सलियों ने एकबार फिर जवानों को अपना निशाना बनाया. कांकेर जिले में नक्सलियों के साथ सुरक्षाबलों की मुठभेड़ हुई. इस मुठभेड़ में सीमा सुरक्षा बल के चार जवान शहीद हो गये. जसमें धनबाद का इसरार खान भी शामिल है.

घटना गुरुवार की है जब महला स्थित बीएसएफ के शिविर से सुरक्षा बल का दल गश्त पर निकला था. इस दल में जिला बल के जवान भी थे. जवान जब कुछ दूरी पर थे, तब नक्सलियों ने गोलीबारी शुरू कर दी. नक्सली गोलीबारी के बाद जवानों ने भी जवाबी करवाई शुरू की. इस मुठभेड़ में कई नक्सली भी घायल हुए.

इसे भी पढ़ें – #दुमकाः नौवीं बार शिबू होंगे सांसद या तीसरी बार खिलेगा कमल

मौत की खबर से गांव में शोक की लहर

इधर धनबाद के इसरार खान के शहीद होने की खबर मिलते ही कोयलांचल में शोक की लहर दौड़ गयी. घर में मातम छा गया. शहीद की मां और भाइयों का रो-रो कर बुरा हाल है. इधर इसरार के शहीद होने की खबर सुनते ही स्थानीय लोगों की भीड़ जमा हो गयी.

गौरतलब है कि इसरार के पिता गांव में साइकल से घूम-घूम कर चॉकलेट और बिस्कुट बेचा करते हैं. ऐसे में जवान बेटी की मौत की खबर ने उन्हें झकझोर के रख दिया. लेकिन फिर भी इसरार के पिता को देश के लिए उसकी शहादत पर गर्व है.

इसे भी पढ़ें – राशन कार्ड में नाम जुड़वाने में पेंच, गरीबों को दो जून की रोटी नहीं दे पा रही सरकार

लोदना में हुई थी इसरार की प्रारंभिक शिक्षा

इसरार की प्रारंभिक शिक्षा लोदना हाई स्कूल से हुई थी. जिसके बाद उसने झरिया के आरएसपी कॉलेज से इंटर मीडिएट पढ़ाई पूरी की थी. इसरार 2013 में सेना में भर्ती हुआ था. जिसके बाद से अपने परिवार की जिम्मेदारी वही संभाल रहा था.

उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव को लेकर छत्तीसगढ़ में सुरक्षाबलों की मौजूदगी को और बढ़ा दिया गया है. जवान लगातार गश्ती कर रहे हैं, ताकि वोटिंग के दिन किसी तरह की दिक्कत ना आए.

वहीं नक्सली लगातार आम लोगों से वोट ना डालने की अपील करते रहे हैं, ऐसे में राज्य में सुरक्षाबलों की संख्या में बढ़ोतरी की जा रही है. राज्य के नक्सल प्रभावित कांकेर लोकसभा सीट के लिए इस महीने की 18 तारीख को मतदान होगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: