World

#Islamabad : विशेष अदालत परवेज मुशर्रफ के खिलाफ देशद्रोह मामले में 17 दिसंबर को सुनायेगी सजा  

Islamabad : पाकिस्तान के पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ के खिलाफ देशद्रोह मामले में 17 दिसंबर को फैसला सुनाया जायेगा.  एक विशेष अदालत ने गुरुवार  को इसकी घोषणा की. इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने दुबई में रह रहे मुशर्रफ और पाकिस्तान सरकार की ओर से दाखिल याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए विशेष अदालत को 28 नवंबर को फैसला सुनाने से रोक दिया था.

इसके बाद, पिछले सप्ताह विशेष अदालत ने 76 वर्षीय मुशर्रफ को देशद्रोह मामले में पांच दिसंबर को बयान रिकार्ड कराने के लिए कहा था. जियो न्यूज के अनुसार पूर्व राष्ट्रपति के खिलाफ मामले की सुनवाई कर रहे पेशावर उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश वकार अहमद सेठ के नेतृत्व वाली विशेष अदालत की तीन सदस्यीय पीठ ने बयान जारी किया.

इसे भी पढ़ें : #LokSabhaSpeaker ओम बिरला के सुझाव पर संसद की कैंटीन में मिलने वाली सब्सिडी छोड़ने को सांसद  तैयार 

मुशर्रफ पर  नवंबर 2007 में आपातकाल लगाने के लिए देशद्रोह का मामला चल रहा है

नयी अभियोजन टीम के वकील ने अदालत को सूचित किया कि उन्हें मामले की तैयारी के लिए और समय की जरूरत है.  ‘डॉन न्यूज के अनुसार न्यायमूर्ति शाह ने कार्यवाही 17 दिसंबर तक स्थगित करते हुए कहा कि वे अगली सुनवाई पर दलीलें सुनेंगे और फैसला सुनायेंगे.

मुशर्रफ पर तीन नवंबर 2007 को आपातकाल लगाने के लिए देशद्रोह का मामला चल रहा है. पाकिस्तान की पूर्व मुस्लिम लीग नवाज सरकार ने यह मामला दर्ज कराया था और 2013 से यह लंबित चल रहा है.

इसे भी पढ़ें : #AyodhyaVerdict से पाकिस्तान के साथ महागठबंधन भी नाखुश : योगी आदित्यनाथ

2013 में उनके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज हुआ

दिसंबर 2013 में उनके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज हुआ. इसके बाद 31 मार्च 2014 को मुशर्रफ आरोपी करार दिये गये और उसी साल सितंबर में अभियोजन ने सारे साक्ष्य विशेष अदालत के सामने रखे. लेकिन, अपीलीय मंचों पर याचिकाओं के कारण पूर्व सैन्य शासक के मुदकमे में देरी हुई और वह शीर्ष अदालतों और गृह मंत्रालय की मंजूरी के बाद मार्च 2016 में पाकिस्तान से बाहर चले गये.

पाकिस्तानी मीडिया की खबरों में बताया गया था कि मुशर्रफ एक दुर्लभ किस्म की बीमारी अमिलॉइडोसिस से पीड़ित हैं. इस बीमारी के कारण बची हुई प्रोटीन शरीर के अंगों में जमा होने लगती है. फिलहाल मुशर्रफ इलाज करा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : #Kolkata: केंद्र ने ममता सरकार से पूछा- बंगाल में कितने घुसपैठिए हैं

 

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: