न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

IRCTC- लालू मामले में ED की कार्रवाई, पटना में तीन भूखंड जब्त

8

NEWSWING

New Delhi/Patna, 08 December : प्रवर्तन निदेशालय ने शुक्रवार को कहा कि उसने बिहार की राजधानी में 45 करोड़ रुपये मूल्य के तीन भूखंडों को जब्त कर लिया. एजेंसी ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद और उनके परिवार की कथित संलिप्तता वाले आईआरसीटीसी होटल आवंटन घोटाले से जुड़ी अपनी जांच के सिलसिले में ये कार्रवाई की है.

45 करोड़ रुपये का है भूखंड

सूत्रों ने बताया कि भूखंड कथित तौर पर लालू प्रसाद के परिवार के सदस्यों के नाम पर हैं और वहां एक मॉल का निर्माण किया जाना था. उन्होंने बताया कि भूखंड का अनुमानित बाजार मूल्य 45 करोड़ रुपये है. संपत्ति को धनशोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के तहत अस्थायी रूप से जब्त किया गया है.

यह भी पढ़ें : लातेहार में हथियारों-विस्फोटकों का जखीरा बरामद, पुलिस को मिली बड़ी सफलता

राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव से दो बार हुई पूछताछ

केंद्रीय एजेंसी ने पिछले सप्ताह लालू प्रसाद की पत्नी और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी से इस सिलसिले में पटना में पूछताछ की थी. इससे पहले उसने राबड़ी देवी के बेटे और बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से दो बार पूछताछ की थी. जुलाई में एजेंसी ने लालू प्रसाद, उनके परिवार के सदस्यों एवं अन्य के खिलाफ पीएमएलए के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया था. प्रवर्तन निदेशालय ने सीबीआई की प्राथमिकी के आधार पर लालू और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज किये थे. सीबीआई पहले इस मामले के सिलसिले में तेजस्वी यादव और लालू प्रसाद के बयान दर्ज कर चुकी है.

यह भी पढ़ें : झारखंड विधानसभा की शीतकालीन सत्र को लेकर स्पीकर ने की बैठक, पक्ष-विपक्ष से की शांतिपूर्ण सदन चलाने की अपील

रिश्वत के रूप में लालू ने लिया था भूखंड

सीबीआई की प्राथमिकी में आरोप लगाया है कि लालू प्रसाद ने संप्रग सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान रेल मंत्री के रूप में 2004 में आईआरसीटीसी के दो होटलों के रखरखाव का ठेका एक कंपनी को दिया था. इसके लिए उन्होंने एक बेनामी कंपनी के जरिये पटना में एक महत्वपूर्ण भूखंड कथित तौर पर रिश्वत के रूप में लिया था. यह कंपनी पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता के मालिकाना हक वाली है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: