न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

IPL-12 : सैंटनर के छक्के से जीती चेन्नई, अंपायर के फैसले से नाराज धोनी पिच पर पहुंचे, लगा जुर्माना

42

Jaipur : चेन्नई सुपर किंग्स ने बेहद ही रोमांचक तरिके से मैच में राजस्थान रॉयल्स को चार विकेट से हराकर जीत हासिल की. चेन्नई के गेंदबाजों ने पहले राजस्थान को 20 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 151 रनों पर सीमित कर दिया.

राजस्थान के गेंदबाजों ने चेन्नई को इस लक्ष्य को भी हासिल करने के लिए काफी मेहनत कराई लेकिन चेन्नई ने छह विकेट खोते हुए आखिरी गेंद पर यह लक्ष्य हासिल कर लिया.

मैच का आखरी ओवर रहा दिलचस्प

चेन्नई को आखिरी ओवर में जीत के लिए 18 रनों की दरकार थी. रवींद्र जडेजा (नाबाद 9) ने निर्णायक ओवर फेंकने आए बेन स्टोक्स की पहली ही गेंद पर छक्का मारा. अगली गेंद नो बॉल हो गई और इस पर एक रन भी आया. महेंद्र सिंह धोनी (58) स्ट्राइक पर थे. उन्होंने ओवर की दूसरी गेंद पर दो रन लिए लेकिन अगली गेंद पर स्टोक्स ने उन्हें बोल्ड कर दिया.

चौथी गेंद पर मिशेल सैंटनर ने दो रन लिए. बेन स्टोक्स की इस गेंद को अंपायरों ने पहले तो नोबॉल दिया, लेकिन फिर तुरंत ही वह फैसला वापस भी ले लिया. इसी बात को लेकर धोनी नाराज हो गए. इस गेंद पर बावल हुआ क्योंकि चेन्नई का कहना था कि यह गेंद कमर से ऊपर थी इसलिए नो बॉल करार दी जानी चाहिए थी. इसी कारण धोनी भी मैदानी अंपायरों से बहस करने के लिए मैदान पर आ गए. लेकिन अंपायरों ने फैसला नहीं बदला.

पांचवीं गेंद पर सैंटनर ने दो रन लिए. आखिरी गेंद पर जीतने के लिए चार रन की जरूरत थी यहां अगली गेंद वाइड हो गई. अब आखिरी गेंद पर तीन रन की दरकार थी सैंटनर ने आखिरी गेंद पर छक्का मार अपनी टीम को जीत दिलाई.

धोनी पर लगा जुर्माना

टीम के कप्तान धोनी को मैच के दौरान आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी पाया गया. जिसके लिए धोनी को मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया है. आईपीएल की आचार संहिता के अनुच्छेद 2.20 के तहत धोनी ने लेवल दो का अपराध स्वीकार भी कर लिया है.

अनुच्छेद 2.20 खेल भावना के विपरीत आचरण से जुड़ा है. गौरतलब है कि धोनी मैच के बीच में पिच पर आ गए और अंपायर के फैसले को लेकर बहस करने लगे. क्योंकि उनका कहना था कि चौथी गेंद कमर से ऊपर थी इसलिए नो बॉल करार दी जानी चाहिए थी.

कैसा रहा मैच का हाल

आसान से लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई शुरुआत में ही लड़खड़ा गई. उसने अपने चार विकेट महज 24 रनों के स्कोर पर ही खो दिए थे. पहले शेन वाटसन (0) आउट हुए। उनके बाद सुरेश रैना (4), फाफ डु प्लेसिस (7) और फिर केदार जाधव (1) पवेलियन लौट लिए.

यह चार विकेट गिराने में राजस्थान की फिल्डिंग ने अहम किरदार निभाया. रैना, जोफ्रा आर्चर की सीधी थ्रो पर रन आउट हुए तो वहीं जाधव को स्टोक्स ने गली पर बेहतरीन कैच लेकर मैदान से बाहर भेजा.

यहां से फिर कप्तान धोनी और अंबाती रायडू ने मोर्चा संभाला और टीम को संकट से उभरने की कोशिश की. इन दोनों ने पांचवें विकेट के लिए 95 रनों की साझेदारी कर चेन्नई को मैच में बनाए रखा. रायडू 18वें ओवर की चौथी गेंद पर 119 के कुल स्कोर पर आउट हो गए. उन्होंने 47 गेंदों पर दो चौके और तीन छक्कों की मदद से 57 रनों की पारी खेली. धोनी ने 43 गेंदों की पारी में दो चौके और तीन छक्कों की मदद से अर्धशतकीय पारी खेली.

रवींद्र जडेजा ने चार गेंदों पर एक छक्के की मदद से अहम नौ रन बनाए और नाबाद लौटे. सैंटनर भी तीन गेंदों पर एक छक्के की मदद से 10 रन बनाकर नाबाद रहे. इससे पहले, राजस्थान के सभी स्टार बल्लेबाज चेन्नई के गेंदबाजों के सामने चल नहीं पाए. उन्होंने शुरुआत तो अच्छी की लेकिन उसे बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर सके.

राजस्थान की टीम को मिली थी तेज शुरुआत

कप्तान अजिंक्य रहाणे (14) और जोस बटलर (23) ने टीम को तेज शुरुआत दी. यह दोनों हालांकि टीम को ज्यादा आगे नहीं ले जा पाए और 31 के कुल स्कोर पर दीपक चाहर ने रहाणे के पगबाधा कर इस साझेदारी को तोड़ा. बटलर भी 47 के कुल स्कोर पर शार्दूल ठाकुर का शिकार हो गए.

चोट से वापसी करने के बाद इस मैच में उतरे संजू सैमसन सिर्फ छह रन ही बना सके. उन्हें 53 के कुल स्कोर पर मिशेल सैंटनर ने पवेलियन भेजा. राहुल त्रिपाठी (10) एक बार फिर विफल रहे. जडेजा ने उन्हें केदार जाधव के हाथों कैच कराया.

69 रनों पर अपने चार विकेट खोने वाली राजस्थान की उम्मीदें अब स्टीवन स्मिथ से थीं, लेकिन यह बल्लेबाज भी तेजी से रन बनाने की कोशिश में सीमा रेखा के पास रायडू द्वारा लपके गए. स्मिथ का विकेट 78 के कुल स्कोर पर गिरा.

बेन स्टोक्स ने संयम भरी पारी खेलने की कोशिश, लेकिन जब उन्हें लगा कि गियर बदलने चाहिए, वह एक बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में चूक गए और दीपक की गेंद पर बोल्ड हो गए. उन्होंने 26 गेंदों पर एक चौके की मदद से 28 रन बनाए। पदार्पण कर रहे रियान पराग सिर्फ 16 रन ही बना सके.

गोपाल ने आखिरी ओवर में 18 रन लेकर टीम को 150 के पार पहुंचाया. उनके साथ जोफ्रा आर्चर 13 रन बनाकर नाबाद लौटे. चेन्नई के लिए शार्दूल ठाकुर, दीपक और जडेजा ने दो-दो विकेट लिए. मिशेल सैंटनर ने एक विकेट लिया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: