न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पाकिस्तानी खिलाड़ी को वीजा नहीं देने पर IOC ने भारत में खेलों के आयोजन पर लगाई रोक

494

New Delhi: अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक कमेटी ने भारत में आगामी खेलों के आयोजन पर रोक लगा दी है. साथ ही IOC ने सभी अंतरराष्ट्रीय खेल संघों से अपील की है कि वह भी भारत में खेलों का आयोजन न होने दें. दरअसल, दिल्ली में चल रहे शूटिंग विश्व के लिए दो पाकिस्तानी शूटर्स को भारत ने वीजा नहीं दिया गया था. पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तानी खिलाड़ियों को वीजा नहीं दिया गया था. भारत के इस फैसले के बाद भारत में होने वाले विश्व कप को दिये गए 16 ओलंपिक कोटा स्थान वापस ले लिये गए हैं.

भारत ने ओलंपिक चार्टर का उल्लंघन किया

आईओसी का कहना है कि प्रतिस्पर्धा में भाग लेने आ रहे खिलाड़ियों को वीजा न देना ओलंपिक चार्टर के उसूलों के खिलाफ है. कोई भी मेजबान देश इस तरह का भेदभाव खिलाड़ियों के साथ नहीं कर सकता. कमेटी ने आखिरी वक्त तक इस मसले को सुलझाने की कोशिश की, लेकिन भारत की ओर से पाकिस्तानी खिलाड़ियों को वीजा नहीं दिया गया. जिसके बाद IOC की ओर से यह फैसला लिया गया है.

खबर ये भी है कि भारत की ओर से दायर आगामी खेलों की याचिकाओं को भी होल्ड पर डाला गया है. अंतर्राष्ट्रीय शूटिंग स्पोर्ट फेडरेशन (आईएसएसएफ) अध्यक्ष ब्लादीमिर लिसिन ने यहां कर्णी सिंह निशानेबाजी रेंज पर सत्र के पहले विश्व कप से पूर्व अपने संबोधन में इसकी जानकारी दी. लिसिन ने कहा,‘‘ अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने हमें बताया कि इस विश्व कप से ओलंपिक कोटा तय नहीं होगा. ऐसे में ये कोटे दूसरे विश्व कप को दिये जायेंगे. हमें आईओसी परिवार का हिस्सा होने के नाते आईओसी के फैसले का सम्मान करना होगा.’’

हालांकि, भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ के अध्यक्ष रनिंदर सिंह ने कहा कि वे अभी भी मामले के समाधान की तलाश में हैं. उन्होंने कहा,‘ अभी कुछ रद्द नहीं हुआ है. हमें कुछ पता नहीं है. हम इंतजार कर रहे हैं. बैठकें हो रही है और आईओसी तथा सरकार इस पर नजर रखे हुए हैं. हर कोई मेहनत कर रहा है. ऐसा पहले कभी नहीं हुआ और यह दुर्भाग्यपूर्ण है.’

बता दें कि गुरूवार से दिल्ली के डा. कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में प्रतियोगिता जारी है. इससे 2020 टोक्यो ओलंपिक के लिए 16 कोटा हासिल किये जा सकते थे, जिन्हें अब रद्द कर दिया गया है. उल्लेखनीय है कि पुलवामा में आतंकी हमले में देश के 40 जवान शहीद हो गये थे. पाकिस्तान में पल रहे आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेवारी ली थी. जिसके बाद से भारत पाकिस्तान पर लगातार चौतरफा दबाव बना रहा है.

इसे भी पढ़ेंः बारामूला में सुरक्षाबलों-आतंकियों में मुठभेड़

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: