National

#InxMediaCase : कपिल सिब्बल का दर्द छलका, हमारी मौलिक स्वतंत्रता की रक्षा कौन करेगा? सरकार? सीबीआई? ईडी? या अदालतें? …

NewDelhi : हमारी मौलिक स्वतंत्रता की रक्षा कौन करेगा? सरकार? सीबीआई? ईडी? या आयकर अधिकारी? अथवा अदालतें? अगर अदालतें मान लेंगी कि ईडी और सीबीआई सही बोल रही हैं तो एक दिन भगवती से वेंकटाचलिया युग में निर्मित स्वतंत्रता के स्तंभ ढह जायेंगे. वह दिन दूर नहीं है.  कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और वकील  कपिल सिब्बल ने यह प्रतिक्रिया पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम को तिहाड़ जेल भेजे जाने पर व्यक्त की है. कपिल सिब्बल  ने इसे लेकर ट्वीट किया है.

इसे भी पढ़ें : #Tihar जेल में कटी चिदंबरम की पहली रात, डिनर में मिला रोटी, दाल और चावल


14 दिनों की न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया

पांच सितंबर को पी. चिदंबरम को दिल्ली की एक अदालत ने आईएनएक्स मीडिया मामले में  14 दिनों की न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया.  जान लें कि सीबीआई ने अगस्त माह में पी चिदंबरम  को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की थी. सीबीआई के विशेष न्यायाधीश अजय कुमार कुहर ने चिदंबरम को गुरुवार को अदालत में हुई उनकी पेशी के बाद  जेल भेज  दिया.

खबरों के अनुसार चिदंबरम ने अदालत  से  आग्रह किया कि  वह जेड-श्रेणी की सुरक्षा के साथ उस सेल में रहना चाहते हैं, जहां एक बिस्तर, दवाओं की सुविधा, बाथरूम और पश्चिमी शैली वाला शौचालय हो.  अदालत ने उनकी बात मान ली.  इसके अलावा आईएनएक्स मीडिया से संबंधित एक मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समक्ष आत्मसमर्पण करने की अनुमति मांगने के लिए चिदंबरम ने अदालत में एक और आवेदन दिया है.  इस पर सुनवाई 12 सितंबर को होगी.

इसे भी पढ़ें- #Economicslowdown : सड़कों से गायब होने लगे ट्रक, सात करोड़ परिवारों की रोजी-रोटी संकट में

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close