National

#INXMediaCase:  जेल में मनेगी #Chidambaram की दिवाली, सीबीआई ने SC में दाखिल की समीक्षा याचिका

NewDelhi : सीनियर कांग्रेस नेता पी चिदंबरम की दिवाली जेल में ही मनेगी.  दिल्ली की विशेष अदालत ने आईएनएक्स मीडिया मनी लॉन्ड्रिंग मामले में  पी चिदंबरम की ईडी की हिरासत अवधि 30 अक्टूबर तक बढ़ा दी है. जमानत नहीं मिलने से अब उन्हें दिवाली तक जेल में ही रहना पड़ेगा.

विशेष जज अजय कुमार कुहार ने गुरुवार को दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया. कोर्ट ने प्रवर्तन निदेशालय को चिदंबरम से पूछताछ की इजाजत देते हुएनिर्देश दिया कि जरूरी होने पर चिदंबरम के स्वास्थ्य की जांच अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में करवाई जाये. अदालत ने कहा कि हिरासत की अन्य शर्तें पहले जैसी ही रहेंगी.

advt

इसे भी पढ़ें : #MaharashtraElection : भाजपा को टेंशन दे रही #ShivSena, सामना में की शरद पवार की तारीफ,  सत्ता की धौंस न दिखाने की सलाह

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने चिदंबरम की याचिका का विरोध किया

इससे पूर्व चिदंबरम की ओर से पेश सीनियर अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने पूर्व वित्तमंत्री के गंभीर रूप से बीमार होने का हवाला देते हुए हैदराबाद में उनके इलाज के लिए दो दिन की अंतरिम जमानत मांगी, लेकिन जज ने ठुकरा दिया.

ईडी की ओर से पेश सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने चिदंबरम की याचिका का विरोध करते हुए कहा कि यह कोर्ट की गंभीर गलती होगी, यदि एजेंसी की पूछताछ की अवधि को घटाया गया. उन्होंने कहा कि दस्तावेजी सुबूत से पता चलता है कि चिदंबरम का मनी लॉन्ड्रिंग मामले से तार जुड़ा है.

इसे भी पढ़ें : #Haryana: खट्टर के साथ जाने पर निर्दलीय विधायकों पर भड़के दीपेंद्र हुड्डा, कहा- जनता जूते मारेगी

चिदंबरम को हिरासत में लेकर और पूछताछ करने की जरूरत

तुषार  मेहता ने कहा कि चिदंबरम को हिरासत में लेकर और पूछताछ करने की जरूरत है, क्योंकि उन्होंने सभी सवालों के जवाब नहीं दिये हैं. इससे पहले दिल्ली हाईकोर्ट ने चिदंबरम की जमानत याचिका पर ईडी को नोटिस जारी कर जवाब मांगा. जान लें कि  ईडी चिदंबरम के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले के आरोपों की जांच कर रहा है.

एजेंसी ने उन्हें 16 अक्तूबर को गिरफ्तार किया था और विशेष अदालत ने चिदंबरम को 24 अक्तूबर तक जांच एजेंसी के रिमांड पर दिया था. यह मामला 2007 में आईएनएक्स मीडिया को 305 करोड़ विदेशी निवेश के लिए विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) की अनुमति देने में कथित अनियमितता व पद के दुरुपयोग से जुड़ा है.

सीबीआई ने आईएनएक्स मीडिया मामले में वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम को दिल्ली की विशेष अदालत से जमानत दिये जाने के आदेश के खिलाफ  SC में समीक्षा याचिका दायर की है.

इसे भी पढ़ें: #Haryana : बहुमत के दावे के बीच भाजपा विधायक दल की बैठक शनिवार को, #GopalKanda के समर्थन पर विवाद

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: