NationalTop Story

इंटरपोल ने नीरव मोदी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया : सीबीआई

विज्ञापन

New Delhi :  भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी के खिलाफ इंटरपोल ने रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया है. अरबपति कारोबारी के खिलाफ दो अरब डॉलर के पीएनबी घोटाले में जांच चल रही है. रेड कॉर्नर नोटिस (आरसीएन) में इंटरपोल ने अपने 192 सदस्य देशों से कहा है कि अगर भगोड़ा व्यक्ति उनके देश में देखा जाता है तो उसे गिरफ्तार कर लिया जाए या हिरासत में ले लिया जाए. इसके बाद उसके प्रत्यर्पण या निर्वासन की प्रक्रिया शुरू की जा सकेगी.

आरसीएन में इंटरपोल ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा लगाए गए  धन शोधन आरोपों को सूचीबद्ध किया है. देश के सबसे बड़े बैंक घोटाले के सामने आने से कई हफ्ते पहले  जनवरी के पहले सप्ताह में नीरव मोदी ने अपनी पत्नी, भाई और मामा के साथ देश छोड़ दिया था. इन सभी के नाम आरोपियों के रूप में सीबीआई द्वारा दर्ज प्राथमिकी में हैं.

इसे भी पढ़ें – पुलिस आधुनिकीकरण पर करोड़ों खर्च और जवानों की दुर्दशा, ऊपर भी पानी-नीचे भी पानी (देखें वीडियो)

advt

पासपोर्ट रद्द होने के बावजूद कई देशों की यात्रा करता रहा

नीरव और उसके मामा मेहुल चोकसी ने कारोबार और सेहत संबंधी कारणों और अन्य वजहों का हवाला देते हुए जांच में शामिल होने के लिए भारत लौटने से इनकार कर दिया. इसके बाद 15 फरवरी को इंटरपोल के जरिए जारी डिफ्यूजन नोटिस के जरिए सीबीआई ने नीरव मोदी का पता लगाने का प्रयास किया था. लेकिन इससे भी खास सफलता नहीं मिली, क्योंकि सीबीआई के अनुरोध का जवाब केवल ब्रिटेन ने ही दिया.

सीबीआई ने बताया था कि 24 फरवरी को इंटरपोल के सेंट्रल डेटाबेस में यह जानकारी प्रसारित की गई थी, कि भारत सरकार नीरव का पासपोर्ट रद्द कर रही है. उसके बावजूद वह कई देशों की यात्रा करता रहा. सीबीआई प्रवक्ता अभिषेक दयाल ने कहा था कि  विदेश मंत्रालय ने उसका पासपोर्ट रद्द कर दिया था. जिसके बाद हमने यह जानकारी डिफ्यूजन नोटिस में जोड़ दी. नीरव मोदी का पासपोर्ट रद्द करने की जानकारी 24 फरवरी को इंटरपोल के सेंट्रल डेटाबेस को भी भेज दी गई , यह डेटाबेस सभी सदस्य देशों के पास उपलब्ध होता है.

इसे भी पढ़ें – रघुवर सरकार के चार साल में छह विस सीटों पर हुए उपचुनाव, अगला उपचुनाव कोलेबिरा सीट के लिए लगभग तय

उन्होंने बताया कि सीबीआई के अनुरोध पर इंटरपोल द्वारा डिफ्यूजन नोटिस जारी किये जाने के बाद एजेंसी ने उन छह देशों से संपर्क साधा, जहां नीरव के जाने की आशंका थी. एजेंसी ने इन देशों से नीरव के बारे में जानकारी देने का अनुरोध किया.

एजेंसी ने 25 अप्रैल , 22 मई , 24 मई और 28 मई को यूनाइटेड किंगडम की इंटरपोल कॉर्डिनेशन एजेंसी को ये रिमाइंडर भेजे. इसी तरह के रिमाइंडर अमेरिका , सिंगापुर , बेल्जियम , यूएई और फ्रांस की एजेंसियों को भी भेजे गए.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close