न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लुगू बाबा व लुगू आयो की पूजा के साथ शुरू हुआ अंतर्राष्ट्रीय सरना महाधर्म सम्मेलन

महाधर्म सम्‍मेलन में शरीक हो रहे हैं कई राज्‍यों के संथाली श्रद्धालु

54

Bermo: संथालियों का अंतर्राष्ट्रीय सरना महाधर्म सम्मेलन गुरूवार को ललपनिया के लुगूबुरू घंटाबाड़ी धोरोमगाढ में विधिवत रूप से पूजा-पाठ के साथ शुरू हुआ. यहां दोरबारी चट्टान स्थित मंदिर में पाहन किशुन मांझी ने लुगू बाबा और लुगू आयो की पूजा की. पाहन ने लुगू बाबा से आने वाले श्रद्धालुओं के सुख-दुख और उनके समृद्धि की कामना की. इसके साथ ही दो कुवारी लड़की, कपसा गोसाई उखुड़ गाढा कान्डी की भी पूजा की. सम्मेलन में आने वाले बंगाल, ओडिशा सहित झारखंड राज्य के 24 जिला के संथाली श्रद्धालु आये. यहां पर लुगूबुरू की पूजा के लिए श्रद्धालुओं का दिन भर तांता लगा रहा. ज्यादातर श्रद्धालु अहले सुबह से लुगू पहाड़ स्थित घिरी दोलान गुफा के दर्शन के लिए पहाड़ पर चढ़े व दोलान के दर्शन के बाद शाम को वे वापस लौटे.

जिला प्रशासन द्वारा लगाये गये टेंट में श्रद्धालुओं की व्यवस्था के लिए बेरमो के कार्यपालक दण्डाधिकारी टुडू दिलीप और बेरमो के बीडीओ अखिलेश कुमार लगे रहे. उन्‍होंने राज्य के 24 जिलों से आने वाले श्रद्धालुओं के रहने, खाने व सोने की व्यवस्था का जायजा भी लिया. यहां के टेंट सिटी में जिलावार महिलाओं और पुरूषों के लिए अलग-अलग रहने व सोने की व्यवस्था की गयी है.

पार्किंग की व्‍यवस्‍था से परेशान रहे श्रद्धालु

silk_park

लुगूबुरू के दर्शन एवं पूजा के लिए बंगाल, उडीसा चाईबासा एवं दूर से आने वाले श्रद्धालुओं को पार्किंग पर अपनी गाड़ी खड़ी करने में परेशानियों का सामना करना पड़ा. बाहर से आने वाले श्रद्धालु अपने साथ खाने-पीने रहने का सामान यहां अपने साथ लेकर आते हैं. इन सामानों को लाने में उन्‍हें परेशानी का सामना करना पड़ा. कई श्रद्धालुओं ने आयोजन समिति से संपर्क कर अपने वाहन सहित पूजा स्थल के किनारे तक आने देने के लिए संपर्क किया. तब आयोजन समिति के अध्यक्ष बबुली सोरेन ने जिला प्रशासन से संपर्क कर श्रद्धालुओं की परेशानी कम करने की कोशिश की.

इसे भी पढ़ें: रांची से गिरफ्तार सभी 280 पारा शिक्षकों को बर्खास्त करने की सरकार कर रही है तैयारी ! पढ़ें पूरी सूची

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: