BiharNational

International Sand Art Festival : चंद्रभागा बीच पर आकर्षण का केन्द्र बनी मधुरेन्द्र की कलाकृति, गणेशा को पर्यटकों ने सराहा

Motihari : कोणार्क फेस्टिवल अंतर्गत पर्यटन विभाग ओडिशा सरकार द्वारा आयोजित अंतरराष्ट्रीय रेतकला उत्सव में चंपारण के युवा रेत कलाकार मधुरेन्द्र ने अपनी कला का जलवा बिखेरा है. मधुरेन्द्र ने कोणार्क मंदिर के नजदीक चंद्रभागा बीच पर अपनी कला का जलवा बिखेरा है. इस संबंध में मधुरेन्द्र ने बताया कि कला को देख ओड़िसा सरकार के पर्यटन मंत्री पानिगिराहि भी अभिभूत हो गए. एक दिसंबर से पांच दिसंबर तक चलने वाले इस उत्सव के पहले दिन सैंड आर्टिस्ट द्वारा बालू पर उकेरी गयीं भगवान गणेश व बुद्ध की आकृति आकर्षण का केंद्र बनी.

Advt

इसे भी पढ़ें :  पूछताछ के लिए बुलाया गया था थाना, पुलिस को चकमा देकर हो गया था फरार

साउथ अफ्रीका में मिले कोरोना वायरस के नए वैरियंट ओमिक्रोन के खौफ के बीच भी लोगों का उत्साह कम नहीं हुआ है. लोग बड़ी संख्या में चंद्रभाग बीच पर सैंड आर्टिस्टों द्वारा बनाये गए कलाकृति को देखने पहुंच रहे हैं.
लोग कोविड-19 के नियमों को पालन करते हुए इस महोत्सव में बालू से बनी प्रतिमा को देखने के लिए आ रहे हैं. बता दें कि सैंड आर्टिस्ट ऐसे ही कुछ अलग काम करके दुनिया में अपने नाम का डंका बजा रहे हैं. मौके पर उपस्थित पद्मश्री सुदर्शन पटनायक व विभागीय कई वरीय अधिकारियों तथा आम नागरिकों ने भी मधुरेंद्र की कलाकृति की सराहना की.

इसे भी पढ़ें : आठ साल से दबंगई से नहीं दे रहा किराया, कोर्ट पहुंचा मामला

Advt

Related Articles

Back to top button