DhanbadJharkhandLead NewsRanchi

धनबाद के गोविंदपुर में 12.56 एकड़ में विकसित होगा अंतर्राज्यीय बस पड़ाव, आदेश जारी

Ranchi: धनबाद में 48.11 करोड़ की लागत से अंतर्राज्यीय बस पड़ाव व वाणिज्यक सुविधाओं का विकास किया जायेगा. कैबिनेट की मंजूरी मिलने के बाद नगर विकास विभाग ने संकल्प जारी कर दिया है. बस पड़ाव पीपीपी मोड पर विकसित किया जायेगा. इसके डिजाइन बिल्ट फाइनांस ऑपरेट एंड ट्राँसफर पद्धति के आधार पर किया जायेगा. इसके लिए जमीन भी चिंहित्त कर लिया गया है. प्रस्तावित स्थल गोविंदपुर प्रखंड के अंतर्गत पाडुकी गांव में से जीटी रोड के किनारे अवस्थित है. योजना स्थल का संपुर्ण क्षेत्रफल 12.56 एकड़ में फैला है,जिसमें 10.46 एकड़ भूमि पर निजी भागीदारी द्वारा मिनिमम डेवलपमेंट आब्लीगेशन केत हत बस टर्मिनल का विकास किया जायेगा. 2.1 एकड़ भूमि में वाणिज्यक सुविधा होगी.

इसे भी पढ़ें:   Red indian की 28 वीं वर्षगांठ पर पूरी रात मस्‍ती में डूबे रहे बॉलीवुड के सितारे

60 वर्ष के लिए जमीन लीज पर दी जायेगी. निविदा की दर तय करते हुए इससे संबंधी प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की स्वीकृति मिली हुई है,जल्द ही कैबिनेट की मंजूरी लेने की तैयारी की जा रही है. लोक निजी भागीदारी प्रणाली के तहत इसे विकसित किया जायेगा. धनबाद आइएसबीटी के विकास के लिए मेसर्स आइडेक लि. के द्वारा प्रारूप विस्तृत परियोजना प्रतिवेदन तैयार कराया गया है. तकनीकी विकास और टर्मिनल भवन निर्माण में करीब 18.51 करोड़ रुपये की लागत आयेगी. इसके अलावा सिविल वर्क, एक्सटर्नल साइड डेवलपमेंट इत्यादि का काम भी किया जायेगा. पीपीपी पॉलिसी के आधार पर एमडीओ लागत पर मिनिमम रिजर्व प्राइस अर्थात 1.52 टाइम्स के सर्किल रेट ऑफ कर्मिशिलय लैंड पर शुन्य है.

इस परियोजना के तहत निजी भागीदार द्वारा बस टर्मिनल बनाकर, झारखंड सरकार को हैंडओवर किया जायेगा. इसके बदले में निजी भागीदारी को वाणिज्यक सुविधा के लिए जमीन लीज पर दिया जायेगा,जिससे सरकार की आय में बढ़ोतरी होगी. अधिकारियों के अनुसार प्रशासनिक स्वीकृति राशि के लिए सरकार को कोईअतिरिक्त वित्तीय बोझ नहीं पड़ेगा. जुडको इस काम के लिए निविदा जारी कर एजेंसियों का चयन करके काम करायेगा. नगर विकास विभाग आइएसबीटी के लिए अतिक्रमण मुक्त जमीन उपलब्ध करायेगा. योजना की मंजूरी सहित निजी कंपनियों को अधिकतम एफएआर लीज दी जायेगी.

प्रदूषण से मुक्ति

अन्तर्राज्यीय बस पड़ाव के निर्माण किये जाने बाद दूसरे शहरों से आनेवाले बड़े-बड़े बस कोर शहरी क्षेत्र से बाहर स्थित बस पड़ाव में ठहेरेंगे जिससे शहरी क्षेत्र में बड़े बसों के कारण उत्पन्न होनेवाले जाम एवं अन्य ट्रैफिक समस्या समाप्त होगी. साथ ही इन डीजल इंजन वाले वाहनों से निकालने वाले धुओं से निजात भी मिलेगा.

इसे भी पढ़ें:  Jamshedpur: स्नेहा मिश्रा, ज‍िसकी खनकती आवाज से ब‍िखरती है माटी की खुशबू, लोक-संगीत की म‍िठास

Related Articles

Back to top button