न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भगवान बिरसा मुंडा का अपमान इस राज्य का अपमान है

245

Ranchi: सिरम टोली सरना स्थल में आदिवासी समाज की बैठक गुरुवार को हुई. जिसमें 200 से अधिक लोग अलग-अलग जिलों से शामिल हुए. बैठक में सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक विषयों पर चर्चा हुई. साथ ही बैठक में बिरसा मुंडा की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त करने मामले में आदिवासी समाज द्वारा चर्चा करते हुए निर्णय लिया गया कि शुक्रवार को बिरसा मुंडा समाधि स्थल पर पाहनों के द्वारा पूजा की जायेगी. इस अवसर पर राज्य के 24 जिले से 25 से 30 हजार लोग जुटेंगे.

इसे भी पढ़ें – कन्फ्यूजनः प्रशासन ने कहा 40 हजार लोग योग करेंगे, बीजेपी प्रवक्ता कह रहे 50 हजार

Trade Friends

असामाजिक तत्वों को गिरफ्तार किया जाये

WH MART 1

आदिवासी युवा मोर्चा के अध्यक्ष शशि पन्ना ने कहा कि झारखंड की अस्मिता और वीर शहीद भगवान बिरसा मुंडा पर किसी भी तरह की आंच आने नहीं देंगे. भगवान बिरसा मुंडा का अपमान इस राज्य का अपमान है. साथ ही बैठक में यह मांग भी उठी कि जिन असामाजिक तत्वों ने बिरसा मुंडा की प्रतिमा को क्षति पहुंचायी है, उन्हें अविलंब गिरफ्तार किया जाये. ऐसा नहीं होने पर पूरे राज्य में एक नये उलगुलान की शुरुआत होगी. केंद्रीय आदिवासी मोर्चा के अध्यक्ष अजय टोप्पो ने कहा कि झारखंड में बिरसा मुंडा की विचारधारा को मरने नहीं देंगे.

केंद्रीय सरना समिति के अध्यक्ष अजय तिर्की ने कहा कि बिरसा मुंडा की प्रतिमा का क्षतिग्रस्त होना राज्य ही नहीं राष्ट्र के लिए अपमान की बात है. आदिवासी समाज के पारंपरिक रिवाजों के अनुसार पाहनों द्वारा प्रतिमा की पूजा की जानी चाहिए. बैठक में सर्वसम्मति से भगवान बिरसा मुंडा की पूजा करने की बात स्वीकार की गयी.

इसे भी पढ़ें – योग दिवस: डॉक्टरों के साथ स्वास्थ्य मंत्री की समीक्षा बैठक, रिम्स स्टेडियम में डॉक्टरों के लिए खास इंतजाम

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like