न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

छह मार्च को प्रोन्नति के साथ स्थानांतरित किये गये 13 अवर सचिवों को तत्काल नयी जगह पर योगदान देने का निर्देश

905

योगदान नहीं देने पर होगी कानूनी कार्रवाई
सेक्शन ऑफिसर के रिक्त पद पर अवर सचिव में दिया गया प्रमोशन
समाज कल्याण विभाग के लालो कुशवाहा भी हैं सूची में शामिल

Ranchi: राज्य सरकार ने सचिवालय सेवा के एक दर्जन से अधिक अधिकारियों को प्रोन्नति देते हुए अवर सचिव बनाया है. छह मार्च 2019 को ऐसे 14 प्रशाखा पदाधिकारियों को अंडर सेक्रेटरी में प्रमोशन दिया गया था.

सरकार की तरफ से 13 मई को दोबारा इन अधिकारियों को स्थानांतरित जगह में तुरंत योगदान देने का आदेश दिया गया है.
कार्मिक, प्रशासनिक और राजभाषा सुधार विभाग के अवर सचिव दिलीप कुमार साह ने जारी अधिसूचना में कहा है कि प्रोन्नत अवर सचिवों को प्रभार ग्रहण करने के लिए प्रशासी विभाग तुरंत कार्रवाई करें. इनमें आधा दर्जन अधिकारी ऐसे हैं, जो दूसरी जगह जाना नहीं चाहते हैं.

इसे भी पढ़ेंःमोदी साबित करें ईश्वरचंद विद्यासागर की मूर्ति टीएमसी कार्यकर्ताओं ने तोड़ी, नहीं तो उन्हें जेल में डाल देंगे‌

महिला और बाल विकास विभाग के लालो कुशवाहा भी शामिल

महिला और बाल विकास विभाग के अवर सचिव, जिनका तबादला अन्य विभागों में हुआ है, वो जानबूझ कर दूसरी जगह नहीं जा रहे हैं. इन्हें महाधिवक्ता कार्यालय में भेजा गया है. श्री कुशवाहा वहां पर पद सृजित नहीं होने की दलील दे रहे हैं.

कार्मिक विभाग की तरफ से ऐसे अधिकारियों से नव प्रोन्नत वाली जगह में जाने की अपील की गयी है. इनके अलावा प्रेम कुमार राय, अरुण प्रकाश, धर्मराज महतो, शिव मंगल सिंह, रघुवंश प्रसाद और अन्य भी दूसरी जगह जाने को तैयार नहीं हैं.

इसे भी पढ़ेंः14 सीटों के लिए मोदी को करना पड़ा एक रोड शो और चार जनसभाएं, क्या झारखंड BJP को खुद पर नहीं था भरोसा

अधिकारी जो प्रोन्नति के बाद भी नहीं जा रहे हैं स्थानांतरित जगह

अधिकारी का नामस्थानांतरित विभाग
शिव शंकर प्रसाद सिन्हामंत्रिमंडल सचिवालय
नवल किशोर रायमंत्रिमंडल निर्वाचन
लालो प्रसाद कुशवाहामहाधिवक्ता कार्यालय
सुनील कुमारकार्मिक
प्रेम कुमार रायकार्मिक
राजनंदन प्रसाद सिन्हाराज्य कर्मचारी चयन आयोग
अरुण प्रकाश सिंहऊर्जा विभाग
रघुवंश प्रसादऊर्जा विभाग
अशोक कुमार चौधरीराज्य निर्वाचन आयोग
अजय कुमार सिंहउच्च, तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विभाग
धर्मराज महतोउच्च, तकनीकी शिक्षा
शिवमंगल सिंहझारखंड लोक सेवा आयोग
ललन कुमार दासडीजीपी कार्यालय

 

इसे भी पढ़ेंः14 सीटों के लिए मोदी को करना पड़ा एक रोड शो और चार जनसभाएं, क्या झारखंड BJP को खुद पर नहीं था भरोसा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: