JharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

ग्रामीण विकास सचिव का निर्देश हर माह अफसर 50-50 मनरेगा योजनाओं का करें निरीक्षण

मनरेगा आयुक्त ने सोशल ऑडिट में मिली शिकायतों पर कार्रवाई नहीं होने जताई नाराजगी

Ranchi : ग्रामीण विकास सचिव डॉ.मनीष रंजन ने मनरेगा के सफल क्रियान्वयन को लेकर राज्य के सभी उप विकास आयुक्तों के साथ वर्चुअल बैठक की और मनरेगा के कार्यों का ससमय निष्पादन करने का टास्क सौंपा.

इस दौरान उन्होंने स्पष्ट कहा कि मनरेगा कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं हो,मनरेगा का उद्देश्य रोजगार सृजन है. योजनाऐं संचालित कर ग्रामीणों को रोजगार मुहैया करवाना सुनिश्चित करें. ग्रामीण विकास सचिव ने एरिया ऑफिसर ऐप के माध्यम से सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी, सहायक अभियंता एवं कनीय अभियंता को 50-50 चालू योजनाओं का प्रतिमाह निरीक्षण करने एवं उसका प्रतिवेदन ऐप पर अपलोड करने का सख्त निर्देश दिया.

उन्होंने सभी ग्राम पंचायतों में मेठ के माध्यम से मस्टर रोल में निहित मजदूरों की उपस्थिति एनएमएस के माध्यम से कैपचर करते हुए अपलोड करने का भी निर्देश दिया.

मनरेगा आयुक्त राजेश्वरी बी ने सामाजिक अंकेक्षण के क्रम में प्राप्त मामलों पर कार्रवाई नहीं होने पर नाराजगी व्यक्त की. साथ ही निर्णय के अनुसार राशि की वसूली करते हुए एटीआर मनरेगा एप पर अपलोड करने का निर्देश दिया.

Sanjeevani
MDLM

इसे भी पढ़ें :वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव बोले, दबाव में पेट्रोल-डीजल पर वैट कम नहीं करेगी सरकार

ग्रामीण परिवारों की आमदनी बढ़े

विभागीय सचिव ने कहा कि मनरेगा के माध्यम से आम नागरिकों को रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में बेहतर कार्य किया जा रहा है. इसके तहत ग्रामीण परिवारों को निश्चित रोजगार उपलब्ध कराकर, उन्हें मुख्यधारा में शामिल किया जा सके, ताकि उनकी आमदनी बढ़े और उनके क्षेत्र का सतत विकास हो सके. इसलिए सभी को इस दिशा में बेहतर कार्य करने की आवश्यकता है और जो लोग बेहतर कार्य कर रहे हैं, उन्हें प्रोत्साहित भी करना है.

मनरेगा योजना की प्रगति की समीक्षात्मक बैठक ग्रामीण विकास विभाग सचिव डॉ मनीष रंजन की अध्यक्षता में हुई इसमें राज्य के तमाम उप विकास आयुक्त संग संपन्न वीडियो कांफ्रेंसिंग हुई. इसमें मनरेगा आयुक्त राजेश्वरी बी, ग्रामीण विकास विभाग के अपर सचिव रामकुमार सिन्हा तथा अन्य शामिल थे.

इसे भी पढ़ें :संजय मिश्र द रांची प्रेस क्लब के अध्यक्ष चुने गये

एक सप्ताह में शिकायतों का करें निष्पादन

शिकायतों की समीक्षा के क्रम में पदाधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया गया कि मनरेगा के तहत अबतक जितनी भी शिकायतें सीपी ग्राम एवं समाचार पत्रों पर मिली है उसका निष्पादन एक सप्ताह के अंदर करना सुनिश्चित करें.

इस अवसर पर  मनरेगा आयुक्त राजेश्वरी बी ने कहा कि मनरेगा के तहत आयी शिकायतों से ही हमें यह जानकारी मिलती है कि मनरेगा कार्य का उद्देश्यपूर्ण हो रहा है कि नहीं. उन्होंने सभी पदाधिकारियों को प्राप्त शिकायतों को नजरअंदाज नहीं करने बल्कि प्राथमिकता के साथ उसका जांच कर निष्पादन करने का निर्देश दिया.

इसे भी पढ़ें :MGNREGA : दो सालों में तैयार करना था 64344 कुआं, अब तक दस फीसदी काम भी पूरा नहीं

Related Articles

Back to top button