JharkhandLead NewsRanchi

सिक्योरिटी की व्यवस्था ठीक करने की बजाय रोजी-रोटी छीन रही है सरकार : मेयर

Ranchi : मोरहाबादी मैदान के इर्द-गिर्द ठेला-खोमचा व अस्थाई दुकान लगाकर अपना जीवनयापन कर रहे लोगों की रोजी-रोटी हेमंत सोरेन की सरकार ने छीनी है. उन्हें उपयुक्त जगह देने की जिम्मेदारी भी राज्य सरकार की ही है. रांची नगर निगम संबंधित दुकानदारों को जगह उपलब्ध कराने की दिशा में सिर्फ और सिर्फ एक माध्यम है, इसलिए इन दुकानदारों की रोजी-रोटी छीने जाने को लेकर कुछ लोग रांची नगर निगम को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं, जो गलत है.

Advt

रविवार को ये बातें मेयर डॉ आशा लकड़ा ने कही. उन्होंने कहा कि कुछ दिनों पूर्व मोरहाबादी में जिस जगह पर अपराधियों ने गोलीबारी की घटना को अंजाम दिया. जबकि वहां मुख्यमंत्री के पिता शिबू सोरेन का आवास है, इसलिए राज्य सरकार ने अपनी गलती को छिपाने के लिए वहां से ठेला-खोमचा व अस्थाई दुकानों को हटाने का फरमान जारी कर दिया.

इसे भी पढ़ें : खुली लूट की छूट बनी निरसा खान हादसे की मुख्य वजह : दीपक प्रकाश

यदि राज्य सरकार चाहती तो संबंधित स्थल पर सीसीटीव लगाकर व पुलिस पेट्रोलिंग की नियमित व्यवस्था कर हाई सिक्योरिटी जोन को सुरक्षित कर सकती थी. संबंधित स्थल से निरीह दुकानदारों को हटाकर राज्य सरकार ने उनकी रोजी-रोटी छीनने का काम किया है.

पूर्व की तरह दुकान लगाने की मिले इजाजत

मेयर ने कहा कि लोकतंत्र में सभी को जीने का अधिकार है, इसलिए संबंधित दुकानदारों से बातचीत कर उन्हें उपयुक्त स्थल पर बसाने की जरूरत है. जिस स्थल पर दुकानदारों के सामान की बिक्री ही नहीं होगी वहां उन्हें शिफ्ट करने से इस समस्या का निदान संभव नहीं है.

उन्होंने राज्य सरकार से आग्रह करते हुए कहा कि जब तक इन दुकानदारों के लिए उपयुक्त जगह की व्यवस्था नहीं हो जाती, तब तक उन्हें पूर्व की तरह ठेला, खोमचा व अस्थाई दुकान लगाने की इजाजत दी जाये. पुलिस-प्रशासन की ओर से हाई सिक्योरिटी जोन को सुरक्षित करने की व्यवस्था की जाये.

इसे भी पढ़ें :  कोडरमा पुलिस ने 57 मवेशी लदे ट्रेलर को जब्त किया

Advt

Related Articles

Back to top button