न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सीएम योगी से मिला इंस्पेक्टर सुबोध का परिवार, सरकार देगी 50 लाख की आर्थिक मदद

परिवार को मिलेगा असाधारण पेंशन, एक सदस्य को मिलेगी नौकरी

eidbanner
28

Lucknow: बुलंदशहर में भीड़ की हिंसा का शिकार हुए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के परिवार ने गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से लखनऊ में मुलाकात की. इस दौरान शहीद सुबोध की पत्नी रजनी सिंह के साथ उनके बेटे व परिवार के अन्य सदस्य मौजूद रहे. वहीं सीएम के अलावे प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह के साथ प्रभारी मंत्री अतुल गर्ग भी इस दौरान मौजूद रहे. कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी भी वहां पहुंची.

सरकार देगी 50 लाख की मदद

इस मुलाकात के दौरान सरकार ने बुलंदशहर की घटना में दिवंगत पुलिस इंस्पेक्टर की पत्नी को 40 लाख रुपये और माता-पिता को 10 लाख रुपये आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है. इसके साथ ही दिवंगत इंस्पेक्टर के आश्रित परिवार को असाधारण पेंशन तथा परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की भी घोषणा की है. इसके अलावे सुबोध कुमार सिंह के बेटों की कोचिंग में सरकार मदद करेगी. वहीं उनके क्षेत्र एटा में जैथरा कुरावली सड़क का नाम सुबोध सिंह के नाम पर और उनके नाम पर ही कॉलेज बनाया जाएगा. इसके साथ ही 30 लाख के होम लोन को योगी सरकार चुकाएगी.

Related Posts

भारत से मिलकर काम करना चाहता है पाकिस्तान , इमरान ने की प्रधानमंत्री मोदी से बात

दक्षिण एशिया में शांति, प्रगति और समृद्धि के लिए अपनी इच्छा दोहराते हुए इमरान ने कहा कि वे इन उद्देश्यों को आगे ले जाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी के साथ मिलकर काम करने के प्रति आशान्वित हैं.

उल्लेखनीय है कि बुलंदशहर हिंसा को लेकर सीएम योगी ने अधिकारियों को सख्त निर्देश दिये हैं. और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिये हैं. वही अभी तक इस मामले में  पुलिस ने 4 लोगों को गिरफ्तार और 4 लोगों को हिरासत में लिया है. जबकि, घटना का मुख्य आरोपी योगेश राज अब भी फरार है. इधर आरोपी योगेश ने बुधवार को एक वीडियो जारी कर सफाई दी है कि उसे फंसाया जा रहा है, वो दूसरी घटना के वक्त मौके-वारदात पर मौजूद ही नहीं था. ज्ञात हो कि बुलंदशहर में सोमवार को गोकशी के शक में हिंसा भड़क उठी थी. इस हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और एक नौजवान सुमित चौधरी की मौत हो गई थी.

इसे भी पढ़ेंःएनडीए से अलग होंगे कुशवाहा ! दे सकते हैं मंत्री पद से इस्तीफा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: