GadgetsHEALTHLead NewsOFFBEATSci & TechWorld

Innovation: दिमाग पढ़ने वाला हेलमेट हुआ लॉन्च,  आप क्या सोच रहा ये बोल कर बता देगा, जानें कीमत

Kernel नाम की अमेरिकी कंपनी ने पांच साल के शोध के बाद किया विकसित

New Delhi : इंसानी दिमाग को पढ़ने की कोशिश पिछले कई दशकों से हो रही है लेकिन सफलता अब जाकर मिली है. Kernel नाम की एक अमेरिकी कंपनी एक ऐसा हेलमेट लॉन्च किया है जो कि इंसान के दिमाग को पढ़ने में सक्षम है. दावा है कि यह हेलमेट किसी के दिमाग में चलने वाले ख्याल को बोलकर बता सकता है. Kernel के इस खास हेलमेट की कीमत अमेरिका में 50,000 डॉलर यानी करीब 36,94,000 हजार रुपये (18 जून के रेट 73.88 रुपये के हिसाब से ) है.

इसे भी पढ़ें :‘बाबा का ढाबा’ वाले कांता प्रसाद ने की सुसाइड की कोशिश, आखिर ऐसा क्या हुआ था उनके साथ? 

सेंसर्स और इलेक्टॉनिक डायोड लगे हैं

ram janam hospital
Catalyst IAS

इस हेलमेट में कई तरह के सेंसर्स और इलेक्टॉनिक डायोड लगे हैं जो कि ब्लड फ्लो आदि के डाटा के मुताबिक इंसान के दिमाग में चलने वाली बातों को पढ़ते हैं. इससे पहले भी इस तरह की डिवाइस थी, लेकिन उसकी साइज एक कमरे के बराबर थी और वह काफी महंगी भी थी. पहले की डिवाइस के साथ आने वाली समस्या को दूर करते हुए Kernel ने इस हेलमेट को बाजार में उतारा है जिसे आप पहनकर कहीं भी आ-जा सकते हैं.

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

इसे भी पढ़ें :Delhi University Admission 2021:  जानिये अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम में कब शुरू होगी दाखिले की प्रक्रिया, वीसी ने दी जानकारी

रिसर्च पर 815 करोड़ रुपये खर्च हुए

यह हेलमेट उनलोगों के लिए किसी वरदान से कम साबित नहीं होगा जो कि मानसिक विकार या स्ट्रोक के शिकार हैं. कर्नेल के मुताबिक इस खास हेलमेट को जल्द ही बाजार में उतारा जाएगा. कंपनी का कहना है कि दिमाग संबंधि टेस्ट काफी महंगे होते हैं. ऐसे में यह हेलमेट काफी मददगार साबित होगा. कंपनी के सीईओ ब्रायन जॉनसन ने बताया कि इसे तैयार करने में पांच साल का वक्त लगता है और इसमें करीब 815 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं.

इसे भी पढ़ें :चिकित्सकों पर बढ़ते आपराधिक हमलों के खिलाफ आइएमए ने मनाया विरोध दिवस

शोध करनेवाली संस्थाओं को दिया जायेगा हेलमेट

जॉनसन के मुताबिक हार्ट, दिमाग, ब्लड और यहां तक कि DNA के भी टेस्ट फिलहाल सस्ते हैं लेकिन दिमाग का टेस्ट काफी जटिल और महंगे हैं. जॉनसन को इस प्रोजेक्ट के लिए सरकार से मदद की उम्मीद है. इस हेलमेट को सबसे पहले उन संस्थाओं में उपलब्ध कराने की योजना है जो दिमाग को लेकर शोध करते हैं.

जॉनसन का कहना है कि वे चाहते हैं कि 2030 तक स्मार्टफोन की कीमत कम हो जाए और प्रत्येक अमेरिकी के घर में यह हेलमेट मौजूद हो. जॉनसन का मानना है कि इस हेलमेट के आने के बाद लोग अपने मानसिक विकार को गंभीरता से लेंगे.

इसे भी पढ़ें :बिहार में पंचायत चुनाव की तैयारी शुरू, जानें-कब हो सकता है चुनाव

Related Articles

Back to top button