न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मुठभेड़ में घायल हुआ 10 लाख का इनामी उग्रवादी संतोष यादव उर्फ टाइगर गिरफ्तार

675

Ranchi: गुमला के कामडारा थाना क्षेत्र में रविवार को पीएलएफआइ उग्रवादी और पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ में घायल हुए 10 लाख के इनामी उग्रवादी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पीएलएफआई के हार्डकोर उग्रवादी संतोष यादव उर्फ़ टाइगर को घायल अवस्था में रांची के रातू थाना क्षेत्र के चटकपुर से गिरफ्तार किया गया.

उसे दो गोली लगी है. पुलिस ने उसे गिरफ्तार करने के बाद इलाज कराने के लिए रिम्स में भर्ती कराया है. गुमला में हुए मुठभेड़ के बाद वह भागकर रांची स्थित चटकपुर बस्ती स्थित अपने घर में आकर छिपा हुआ था और छिपकर इलाज करा रहा था.

मुठभेड़ में घायल होने के बाद हुआ था फरार

ज्ञात हो कि गुमला के कामडारा थाना क्षेत्र में रविवार को पीएलएफआइ उग्रवादी और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई थी. जहां पुलिस ने तीन उग्रवादियों को मार गिराया था, वहीं कुछ उग्रवादी घायल हो गए थे और फरार हो गए थे. इसके बाद से पुलिस फरार हुए उग्रवादियों की खोजबीन में जुट गई थी.

लोकेशन को ट्रेस कर पुलिस ने किया गिरफ्तार

मिली जानकारी के अनुसार, रविवार को पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में घायल संतोष यादव का लोकेशन ट्रेस कर पुलिस ने उसे रातू थाना क्षेत्र के चटकपुर बस्ती से गिरफ्तार किया. वह चटकपुर बस्ती अपने घर में आकर छिपकर इलाज करवा रहा था. फिलहाल रिम्स में उसे भर्ती कराया है जहां उसका आईसीयू में इलाज चल रहा है.

अब तक मारे जा चुके हैं 9 उग्रवादी

पिछले 27 दिनों के दौरान खूंटी और गुमला में 9 उग्रवादी मारे जा चुके हैं. जहां 29 जनवरी 2019- खूंटी के अड़की में मुठभेड़ में पुलिस ने पीएलएफआई के पांच उग्रवादियों को मार गिराया. वहीं दो घायल उग्रवादी सोमा पूर्ति और प्रवीण मुंडा गिरफ्तार कर लिया गया था.

14 फरवरी 2019- खूंटी के रनिया थाना क्षेत्र के मेरामबीर जंगल में पुलिस और 209 कोबरा बटालियन की पीएलएफआई नक्सलियों से मुठभेड़ हुई. मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने पीएलएफआई के एक उग्रवादी को ढेर कर दिया था.

24 फरवरी 2019- रविवार गुमला में हुए पुलिस और पीएलएफआई और वादियों के बीच मुठभेड़ में पुलिस ने 3 उग्रवादी मार गिराया था.

इसे भी पढ़ेंः हजारीबाग : किराये के मकान से युवती का शव बरामद, हत्या की आशंका

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: