न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कानून की जानकारी पंचायत प्रतिनिधियों के लिए आवश्यक: प्रेमतोष चौबे

113

Ranchi: मताधिकार के विषय में लोगों को अधिक से अधिक जानकारी की आवश्यकता है. इसके लिये जरूरी है कि पंचायत प्रतिनिधि कानून से संबधित किताब पढ़ें. उक्त बातें मंथन युवा संस्थान की ओर से आयोजित कार्यशाला में राज्य निर्वाचन आयोग के उप निदेशक प्रेमतोष चौबे ने कहा. कार्यशाला का विषय ‘झारखंड में पंचायती राज पहल, उपलब्धि एवं अवसर’ रखा गया था. इस दौरान उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा कि श्री चौबे ने कहा कि पंचायत प्रतिनिधियों को कानून की जितनी जानकारी होगी, उतने ही न्याय के साथ वे काम कर पायेंगे. प्रत्येक पंचायत अपने अधिकारों के प्रति जागरूक हो न्याय के साथ कार्य करेंगे तभी ग्रामीण भी जागरूक होंगे.

इसे भी पढ़ें: बीआईटी मेसरा के एमबीए पाठ्यक्रम की मान्यता पर एआईसीटीई ने लगायी रोक

नौकरशाही की निर्भरता कम हुई

इस दौरान मंथन युवा संस्थान के सुधीर पाल ने कहा कि पंचायती व्यवस्था में ग्राम सभाओं को अधिक अधिकार मिले हैं. जिससे नौकरशाही की निर्भरता कम हुई है. पंचायती राज की उपलब्धियों और चुनौतियों पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि ग्राम सभाओं में महिलाओं को आगे बढ़ने का मौका मिला है. वहीं उन्होंने इस व्यवस्था को लेकर आ रही चुनौतियों पर भी प्रकाश डालते हुए कहा कि सरकारी विभागों के साथ सामंजस्य कम है. पंचायत प्रतिनिधियों में अपने अधिकार और काम को लेकर पूरी जानकारी नहीं है.

इसे भी पढ़ें: अजय मारू का मॉल और वनवासी कल्याण केंद्र भुइहरी जमीन पर बने हैं : देव कुमार धान

लाभ उठायें ग्रामीण

विष्णु राजगढ़िया ने इस दौरान कहा कि पंचायती राज्य व्यवस्था राज्य के लिए एक वरदान है. हमें इस अवसर का लाभ उठाना चाहिए. विशेषकर ग्रामीणों को इसका लाभ उठाना चाहिये और यह तभी संभव है जब-जब प्रत्येक पंचायत जागरूक होगा. इन्होंने पेसा कानून के विषय मे विस्तार से बताया. इस दौरान विकास कुमार महतो, अनीता गिरी, मुखिया नीली, मंजू कश्यप, जय मंगल गुड़िया, भिखारी साहू, अफजल अनीस, मनोहर कुमार, निदेशक राजीव कर्ण, संजय कुमार आदि उपस्थित थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: