न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

एक मार्च से पंचायत स्वयंसेवकों का अनिश्चितकालीन आंदोलन होगा समाप्त, लोकसभा चुनाव के बाद फिर से करेंगे आंदोलन

63
  • असमंजस के बीच लिया गया निर्णय, बुधवार तक आंदोलन जारी रखने की योजना बनायी थी

Ranchi : पंचायत सचिवालय स्वयंसेवक संघ के बैनर तले आंदोलनरत पंचायत स्वयंसेवकों ने एक मार्च से अपना अनिश्चितकालीन आंदोलन वापस लेने का एलान किया है. इसकी सूचना स्वयंसेवकों ने राजभवन के पास प्रेस वार्ता कर दी. प्रदेश अध्यक्ष चंद्रदीप कुमार ने बताया कि 27 फरवरी को स्वयंसेवकों ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की. हालांकि, मुख्यमंत्री ने दस दिनों के भीतर स्वयंसेवकों की कुछ मांगों पर कार्रवाई करने की बात कही, लेकिन इससे संघ संतुष्ट नहीं है. चंद्रदीप ने कहा कि सवा घंटे की बातचीत में मुख्य मांगों पर कोई सहमति नहीं बन पायी, जिससे संघ के सदस्यों में आक्रोश है. उन्होंने कहा कि एक मार्च से पंचायत स्वयंसेवक अपने काम में वापस जायेंगे. इसके साथ ही एक मार्च को प्रोजेक्ट भवन घेराव कार्यक्रम को भी संघ ने स्थगित कर दिया है.

लोकसभा चुनाव को देखते हुए वापस लिया जा रहा आंदोलन

चंद्रदीप ने कहा कि लोकसभा चुनाव को देखते हुए संघ की ओर से आंदोलन वापस लिया गया है. इसके बाद विधानसभा चुनाव आने से पूर्व संघ द्वारा जोरदार आंदोलन किया जायेगा. उन्होंने कहा कि पूर्व में योजना बनायी गयी थी कि आंदोलन को जारी रखा जाये, लेकिन राज्य और देश की वर्तमान स्थिति को देखते हुए राज्य कमिटी ने आंदोलन स्थगित करना ही उचित समझा.

असमंजस के बीच लिया गया निर्णय

पंचायत स्वयंसेवकों ने हां-न करते हुए आंदोलन स्थगित करने का निर्णय लिया. मुख्यमंत्री से बातचीत विफल होने के बाद बुधवार को संघ ने कार्यक्रम स्थगित करने का निर्णय लिया, जिसके बाद फिर से संघ की देर रात तक बैठक की गयी. इसमें पुनः आंदोलन जारी रखने और प्रोजेक्ट भवन घेराव करने का निर्णय लिया. एकाएक संघ ने गुरुवार को प्रेस वार्ता कर आंदोलन स्थगित करने का निर्णय लिया.

SMILE

ये थी मांग

पंचायत सचिवालय स्वयंसेवकों को नियमित नियुक्ति दी जाये, नियमित वेतन दिया जाये, मॉनिटरिंग सेल का गठन किया जाये, निश्चित समय में प्रोत्साहन राशि दी जाये समेत अन्य मांगें शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें- एससी-एसटी को जंगल से अलग करने के खिलाफ किसानों का मार्च

इसे  भी पढ़ें- विद्युत नियामक आयोग ने रच दिया इतिहास, बिजली वितरण निगम ने जितने का दिया प्रस्ताव, उससे ज्यादा बढ़ा…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: